बदहाल सिंचाई व्यवस्था को सुधारने के लिए नाबार्ड बना सरकार की उम्मीद 

बदहाल सिंचाई व्यवस्था को सुधारने के लिए नाबार्ड बना सरकार की उम्मीद कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही

लखनऊ। नाबार्ड के 36वें स्थापना दिवस के मौके पर कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि नाबार्ड का राज्य के कृषि और ग्रामीण विकास में महत्वपूर्ण योगदान रहा है, राज्य सरकार की सिंचाई परियोजना में नाबार्ड का सहयोग मिले ये हमारी अपेक्षा है।

इस मौके पर कृषि जलदूतों और स्वयं सहायता समूह से जुड़े सराहनीय कार्य करने वाले सहयोगियों को सम्मानित किया गया। साथ ही जल जीवन अभियान आधारित कॉफी टेबल बुक “बूंद” एवं “नाबार्ड इन यूपी”का विमोचन किया गया।

ये भी पढ़ें- 60 रुपए लीटर बिकता है इन देसी गाय का दूध , गोबर से बनती है वर्मी कंपोस्ट और हवन सामग्री

बहराइच जिला मुख्यालय से लगभग 22 किलोमीटर दूर सजवापुर ब्लॉक के उजवापुर गाँव में रहने वाले आलोक मिश्रा (30 वर्ष) अपने गाँव के जलदूत हैं इनका कहना है, “जल जीवन जागरूकता अभियान में मैंने गांव में सर्वे किया और ये जानने की कोशिश की गाँव में पुराने जल श्रोत कहाँ-कहां थे जो अभी नहीं है, जो जलश्रोत खराब पड़े हैं उन्हें प्रशासन की मदद से कैसे ठीक कराया जाये इसे चिन्हित किया।’’ वो आगे बताते हैं, “ये अभियान भले ही बंद हो गया हो लेकिन मै लगातार इस पर काम करता रहूँगा, पानी बचाना सिर्फ सरकार की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि हम सबकी भी जिम्मेदारी है, आज मुझे स्थापना दिवस पर सम्मानित किया गया है मै इस बात से बहुत खुश हूँ और लगातार अपनी जिम्मेदारी निभाता रहूँगा।’’ आलोक मिश्रा की तरह उत्तर प्रदेश के 12 जनपदों में 480 जलदूत सक्रिय रूप से काम करते हैं, आज स्थापना दिवस के मौके पर 23 लोगों को उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए सम्मानित किया गया।

इस मौके पर कृषि मंत्री ने कहा, “नाबार्ड के द्वारा बनाये गये उत्पादक संगठन अच्छा काम कर रहे हैं, सिंचाई की परियोजनाओं के लिए राज्य सरकार नाबार्ड से सहयोग की अपेक्षा रखती है।’’ उन्होंने आगे कहा, “पानी बचाव के लिए जलदूतों ने अच्छा काम किया, लम्बे समय से लंबित वृहत सिंचाई परियोजनाओं के लिए नाबार्ड सस्ते ब्याज दर पर विकासात्मक ऋण मुहैया कराया जाए।’’

ये भी पढ़ें-बारिश की गलत भविष्यवाणी पर किसानों ने मौसम विभाग के खिलाफ की पुलिस में शिकायत

नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक एके पंडा ने कहा, “हमे इस बात की बेहद खुशी है कि 36वें स्थापना दिवस के मौके पर हम सब एकत्रित हुए हैं, 35 वर्षों में हमने किसानों के लिए बहुत काम किये हैं, जिससे ग्रामीण क्षेत्र के किसान और युवा जागरूक हुए हैं।’’उन्होंने आगे कहा, “इ शक्ति परियोजना से स्वयं सहायता समूह कार्यक्रम का डिजिटाइजेशन किया जाएगा, जल संरक्षण के लिये विशेष पहल प्रदेश के 12 जिलों के 6300 गाँव में “जल जीवन है – जल जागरण अभियान” चलाया गया, इस अभियान से ग्रामीण पानी की बचत के लिए खुद जागरूक हो रहे हैं।’’

कार्यक्रम में सम्मानित किये गये ललितपुर जिला मुख्यालय से 24 किलोमीटर दूर बार ब्लॉक के पूरा गांव के जलदूत राजीव मिश्रा ने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा, “नाबार्ड जिले के 500 गांव के 25 हजार लोगों तक सीधे तौर पर जलदूतों की मदद से पहुंचा, पानी के पुराने और नये श्रोंतो के बारे में जाना, पानी की बचत लोग खुद करें, बरसात के पानी का संरक्षण ग्रामीण मेडबन्दी और चेक डेम बनाकर करें ये हमारी कोशिश रही, सांई ज्योति संस्था की मदद से कई जागरूकता रैली निकाली गयीं, ग्रामीण पानी की बचत भी खुद कर रहे हैं।’’ नाबार्ड के जन संपर्क अधिकारी नवींन राय बताते हैं, “पूरे प्रदेश में 69,300 कृषि जल सहायक बनाये गये हैं, जो अपने गाँव में पानी बचत पर जोर दे रहे हैं, हर जिले की कार्ययोजना बनकर तैयार हो गयी है, पांच हजार जल संरचनाओं को को चिंहित कर जिलाधिकारी को कार्य योजना बनाकर सौपीं जा रही हैं जिससे इन श्रोतों का सुधार किया जा सके।’’ भारतीय रिजर्व बैंक के क्षेत्रीय निदेशक अजय कुमार ने अपने सम्बोधन में कहा, “नाबार्ड के कृषि और ग्रामीण विकास क्षेत्र में निभाई जा रही महती भूमिका किसानो के लिए बहुत उपयोगी साबित हो रही है, ये नाबार्ड द्वारा किया गया सराहनीय प्रयास है।’’विशिष्ट अतिथियों ने कार्यक्रम से पूर्व जीआई पंजीकरण प्राप्त वाराणसी के लोक शिल्प “गुलाबी मीनाकारी” तथा निजामाबाद की “ब्लैक पौटरी” के शिल्पकारों द्वारा सजीव प्रदर्शन स्टाल का अवलोकन किया और ललितपुर से आए बुन्देली लोक गीतों के कलाकारों की प्रस्तुति का भी आनंद लिया।

कार्यक्रम में मुख्य महाप्रबंधक, एस बी आई ,सिडबी, संयोजक एस एल बी सी,बर्ड, राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ,वाणिज्यिक बैंकों के वरिष्ठ बैंकर, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश राज्य सहकारी बैंक और उत्तर प्रदेश ग्रामय विकास बैंक के अधिकारियों सहित सामुदायिक प्रतिनिधियों और नाबार्ड क्षेत्रीय कार्यालय के स्टाफ ने भाग लिया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहांक्लिक करें।

Share it
Top