Top

सर्दी में भी पैर पसार रहा चिकनगुनिया 

Sundar ChandelSundar Chandel   25 Nov 2017 12:28 PM GMT

सर्दी में भी पैर पसार रहा चिकनगुनिया प्रतीकात्मक तस्वीर 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

मेरठ। सर्दी में भी चिकनगुनिया फैलाने वाले एडिस एजिप्टी मच्छर कम नहीं हो रहे हैं। पिछले एक सप्ताह में पांच मरीजों को चिकनगुनिया की पुष्टि हुई है, जिससे स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है। विशेषज्ञ डॉक्टर्स का मानना है कि इस बार तो एडिस एजिप्ट मच्छर गर्मी में नहीं था, इस मौसम में मिलना वास्तव में अचंभित करने वाली बात है। विभागीय अधिकारियों ने फिर से एंटी लार्वा छिड़काव के आदेश दिए हैं।

सामान्य तौर पर सर्दी शुरू होते ही एडिस मच्छर अपने आप नष्ट हो जाता है, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो रहा है। चिकनगुनिया फैलाने वाला एडिस एजिप्ट मच्छर सर्दियों में भी एक्टिव दिखाई दे रहा है। मेडिकल कालेज की लैब में हाल ही में पांच चिकनगुनिया के मरीज मिले हैं। जिला मलेरिया अधिकारी ने मिलने वाले घरों का सर्वे करने को कहा है। साथ ही फिर से एंटी लार्वा छिड़काव शुरू कराने के निर्देश जारी किए हैं। डॉ. तनुराज सिरोही का कहना है, “इस मच्छर का अभी तक एक्टिव होना अचंभित करने वाली बात है। जागरूक रहकर ही इससे बचा जा सकता है।”

ये भी पढ़ें-घर में डेंगू का लार्वा मिलने के बाद गांगुली को नोटिस भेजेगा कोलकाता नगर निगम

प्राइवेट अस्पतालों में भी मरीज

डॉक्टर्स का मानना है कि सरकारी रिकार्ड में ही सिर्फ पांच मरीज मिले हैं, लेकिन स्थिति इससे कहीं ज्यादा खराब है। डेंगू के मरीजों की संख्या तो 600 के पार पहुंच ही गई है। वहीं चिकनगुनिया के भी दर्जनों मरीज प्राइवेट अस्पतालों में उपचार करा रहे हैं, जिनकी पुष्टि निजी लैब के आधार पर की गई है।

आने वाले समय के लिए खतरा

डॉ. विश्वजीत बैंबी बताते हैं, “ठंड में चिकनगुनिया के मरीजों का सामने आना भविष्य के लिए खतरे की घंटी है। स्वयं मलेरिया विभाग मान रहा कि अगर ठंड में एडिस एजिप्ट मच्छर एक्टीव हैं। तो दो माह बाद इसकी प्रजनन क्षमता बढ़ सकती है। ऐसी स्थिति में फरवरी लास्ट से ही यह ज्यादा हमलावर हो सकते हैं।”

चिकनगुनिया के लक्षण

  • खांसी सर्दी के साथ तेज बुखार
  • जोड़ों में दर्द और सूजन की शिकायत सिर में तेज दर्द और गर्दन में जकड़न
  • बुखार के साथ जी मिचलाना और भूख में कमी
  • बुखार जाने के बाद भी महिनों तक जोड़ों का दर्द करता रहता है परेशान

ये भी पढ़ें-डेंगू से बच्ची की मौत और अस्पताल ने बनाया 16 लाख का बिल, अब स्वास्थ्य मंत्री ने लिया एक्शन

ऐसे करें बचाव

  • घर के आस-पास साफ पानी न भरने दें
  • सोते समय जरूरत पडने पर ठंड में भी मच्छरदानी का प्रयोग करें
  • ज्यादा से ज्यादा गर्म पानी का सेवन करें और पेय पदार्थ ही लें

इतनी सर्दी में एडिस एजिप्ट का एक्टीव रहना वास्तव में अचंभित करता है। जिला मलेरिया अधिकारी सहित अन्य टीम को अलर्ट कर दिया गया है।
डॉ. राजकुमार चौधरी, सीएमओ

चलाएगा अभियान

स्थिति को देखते हुए मलेरिया विभाग ने दिसंबर, जनवरी और फरवरी में अभियान चलाने का प्लान अभी से तैयार किया है। मषीन एवं दवाएं खरीदने की तैयारी शुरू कर दी गई है। जिला मलेरिया अधिकारी योगेश सारस्वत बताते हैं, “जितनी भी जगहों पर चिकनगुनिया की पुष्टि हुई है। वहां पर सैंपल सर्वे कराकर फागिंग कराई जा रही है। वहीं आगे की तैयारी के लिए भी मशीन व अन्य दवाओं की खरीद के लिए फाइल तैयार कर भेज दी गई है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.