आपके ट्वीटर, फेसबुक और वाट्सऐप पर अब यूपी पुलिस का पहरा 

Abhishek PandeyAbhishek Pandey   8 Jun 2017 5:41 PM GMT

आपके ट्वीटर, फेसबुक और वाट्सऐप पर अब यूपी पुलिस का पहरा डीजीपी सुलखान सिंह।

लखनऊ। सोशल मीडिया पर सिरर्दद बनते जा रहे सक्रिय ट्रोल एकाउंट पर नजर रखने के लिए यूपी पुलिस एक कार्य योजना तैयार करने जा रही है। इसमें ट्वीटर, फेसबुक और वाट्सऐप पर अफवाह फैलाने वालों पर पुलिस के वालंटियर तीखी नजर रखेगें। इसके पीछे पुलिस का मकसद केवल उन खबरों को रोकना है जिससे अफवाहों के बाजार को गर्म कर प्रदेश का माहौल न खराब किया जा सके। इस योजना के तहत यूपी पुलिस के जवानों को सोशल मीडिया के विषय में ट्रेंड किया जायेगा, जिसके बाद प्रदेश भर के सभी जिलों में इन जवानों को तैनात कर ट्रोल एकाउंट पर नजर रखने की जिम्मेदारी दी जायेगी।

ये भी पढ़ें- किसान आंदोलन : अगर लागू हो जाएं ये सिफारिशें तो हर किसान होगा पैसे वाला

किसी भी वायरल मैसेज की वालंटियर करेंगे जांच-पड़ताल

प्रतीकात्मक फ़ोटो (साभार -नेट )

यूपी पुलिस की जांच में पश्चिम यूपी के सहारनपुर में भड़की हिंसा में सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल निकल कर सामने आया था। इस जांच में पुलिस को मालूम हुआ कि, कुछ अराजक तत्वों ने सोशल मीडिया पर दूसरे समुदाय के बारे में गलत अफवाह उड़ाई थी। इसके पीछे उनका मकसद केवल शहर के माहौल को बिगाड़ना था। इसकी जानकारी मिलने पर सहारनपुर प्रशासन ने जिले में इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी थी। इंटरनेट बंद होने पर शहर का माहौल धीरे-धीरे सामान्य होने लगा और लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी पटरी पर आना शुरू हो गई।

जल्द ही इस योजना को जमीन पर उतारने की तैयारी

ये भी पढ़ें- लखनऊ में विमान की इमरजेंसी लैंडिंग, प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी भी थे सवार

वहीं वर्ष 2013 में भी मुजफ्फरनगर दंगे के दौरान जांच टीम को सोशल मीडिया का दुरुपयोग की बात सामने निकलकर सामने आई थी। जिसके चलते वहां हिंसा इस कदर बढ़ गई थी कि प्रशासन को पैरामीलेटरी फोर्स की मदद लेनी पड़ी थी। इन सब मामलों का विशलेषण करने के बाद ही यूपी पुलिस ने सोशल मीडिया पर एक वालंटियर टीम तैयार करने की योजना बनाई है, जो इन सब अफवाहों पर अपनी नजर रखेगी और मामले की सही जानकारी सोशल मीडिया पर सक्रिय आम लोगों सहित पुलिस के आलाधिकारियों तक पहुंचायेगी। इस सेवा को शुरू करने से पहले यूपी पुलिस ने इन वालंटियर को प्रशिक्षित करने की योजना बनाई है, जो पूरी तरह से सोशल मीडिया पर हाईटेक रहेंगे।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इन जवानों को ट्वीटर, फेसबुक और वाट्सऐप की बारीकियों के संबंध में ट्रेंड किया जायेगा। वहीं इस संबंध में डीजीपी सुलखान सिंह का कहना है कि, सोशल मीडिया वालंटियर की मदद से ट्रोल एकाउंट वालों पर नजर रखने के साथ-साथ उनके द्धारा फैलाई अफवाहों पर भी नजर रहेगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top