लखनऊ में पक्षियों के लिए ‘हर घर आशियाना’ अभियान की शुरुआत

लखनऊ में पक्षियों के लिए ‘हर घर आशियाना’ अभियान की शुरुआत‘हर घर आशियाना’ अभियान के तहत पंक्षियों के लिए जलपात्र में पानी रखती युवतियां।

लखनऊ। “लगातार पेड़ों की कटाई, बढ़ता शहरीकरण, प्रदूषण, बिजली के तार व खेतों में कीटनाशकों के अत्यधिक उपयोग से पिछले कुछ सालों में गौरेया की संख्या में 80 से 90 प्रतिशत कमी आई है।” यह बात आज बाल वैज्ञानिक विमलेश निगम ने लखनऊ एक निजी विद्यालय में गो ग्रीन सेव अर्थ फाउण्डेशन, हमराह फाउण्डेशन एवं उर्मिला सुमन द फाउण्डेशन द्वारा आयोजित पंक्षियों के लिए वाटर टू कैम्पेनिंग ‘‘हर घर आशियाना अभियान’’ में कही।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इस अभियान का शुभारम्भ 14 अप्रैल 2017 को चिड़िया घर में किया गया था। जो लखनऊ के प्रमुख स्थानों पर आयोजित किया जा रहा है। इसी अभियान के तहत आज इन बेजुबान पंक्षियों के लिए वाटर पाट्स लगाकर दाना पानी की व्यवस्था की गयी। ये अभियान जुलाई माह तक चलेगा जिसमें स्कूल, कालेज,पार्क, सरकारी कार्यालय, पेंड़ों पे मिट्टी के बर्तन लगाये जायेंगे। इसके साथ-साथ बेजुबान पंक्षियों के लिए दाना-पानी रखा जायेगा और स्कूलों एवं सार्वजनिक स्थानों पे पंक्षी जागरूकता का भी किया जायेगा।

ये भी पढ़ें: वर्ल्ड पेंगुइन डे : विलुप्त होने के कगार पर सुंदर और आकर्षक पक्षी

संस्था के प्रमुख श्री पवन सिंह चैहान एवं योग गुरू नागेंद्र सिंह चैहान जी ने संस्था कार्यों को सराहा और कहा कि संस्था सदैव ऐसे गंभीर मुद्दों को उठाती रहे। इस कार्यक्रम में उर्मिला सुमन द फाउण्डेशन सचिव राजन सुमन, अभिषेक सिंह, डॉ. रूबी राज सिन्हा, इजीनियर प्रशान्त प्रवीण सिन्हा, सतेन्द्र कुमार, वैशनवी मिश्रा, ममता सिंह चैहान, अल्का सहाय, वन्या सिंह चैहान, अखिल कुमार, बबलू प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top