ख़बर का असर : मंडियों की बदहाली को दूर करें अफ़सर: मुख्यमंत्री 

Devanshu Mani TiwariDevanshu Mani Tiwari   9 April 2017 2:02 PM GMT

ख़बर का असर : मंडियों की बदहाली को दूर करें अफ़सर:  मुख्यमंत्री बीते 30 मार्च को गाँव कनेक्शन में प्रमुखता से खबर प्रकाशित की गई थी।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। प्रदेश की मंडियों की बदहाल स्थिति पर गाँव कनेक्शन में खबर प्रकाशित होने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को आड़े हाथों लिया है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को मंडियों में साफ-सफाई के साथ ड्रेनेज सिस्टम, कूड़ा निस्तारण और दुकानों के निर्माण पर मंडी परिषद को आदेश दिए हैं।

इस बारे में कृषि उत्पादन आयुक्त प्रदीप भटनागर ने बताया कि बैठक में मुख्यमंत्री ने सभी मंडियों के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्रस्तुतिकरण बैठक में गाँव कनेक्शन में छपी सीतापुर रोड स्थित नवीन गल्ला मंडी की खबर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश की मंडियों में साफ-सफाई, मंडी समिति की सड़कों को गड्ढ़ामुक्त किए जाने और पेयजल व शौचालय जैसी व्यवस्थाओं को जल्द से जल्द ठीक कराने के निर्देश दिए हैं और अगले 100 दिनों के भीतर इन समस्याओं को सही करने के आदेश अधिकारियों को दिए हैं। बता दें कि गाँव कनेक्शन में दिनांक 30 मार्च 2017 को छपी खबर ‘मुख्यमंत्री जी कभी मंडी भी आ जाइए’ में सीतापुर नवीन गल्ला मंडी में फैली गंदगी, सफाई कर्मियों की गैरमौजूदगी, मंडी की सड़कों व शौचालयों की खस्ता हालत और मंडी की कैंटीन सहित दुकानों पर अवैध कब्ज़े के मामले उठाए गए थे।

कृषि उत्पादन आयुक्त प्रदीप भटनागर ने आगे बताया,’’बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने मंडी परिषद को निर्देश दिए हैं कि अगले एक महीने में निदेशक खुद प्रदेश की बड़ी मंडियों का दौरा कर के वहां की ज़मीनी हालात जाने और इसकी शुरुआत सबसे पहले सीतापुर रोड पर बनी नवीन गल्ला मंडी से ही की जाए।’’ इसके साथ-साथ प्रस्तुतिकरण बैठक में प्रदेश की मंडियों में होने वाले व्यापार में पारदर्शिता लाने और दागी ठेकेदारों के मंडी में प्रवेश को रोकने के लिए जल्द ही मंडियों में आने वाली हर आवक पर एक निश्चित रसीद की व्यवस्था शुरू किए जाने की बात कही गई।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top