‘चाचा ने कहा है, बालू से दांत साफ किया करो’

Ajay MishraAjay Mishra   12 Sep 2017 7:15 PM GMT

‘चाचा ने कहा है, बालू से दांत साफ किया करो’डेंटल कैंप में बच्चों को बताए गए ब्रश करने के सही तरीके।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कन्नौज। ‘‘पहले मैं कोलगेट से दांत साफ करता था। करीब एक महीने पहले चाचा ने कहा मैं बालू से साफ करता हूं तुम भी इसी से साफ किया करो। टूथपेस्ट बंद कर दिया। अब ऐसा नहीं करूंगा। डॉक्टर साहब ने इसके नुकसान बताए हैं।’’ यह कहना है आसकरनपुर्वा निवासी कक्षा छह के छात्र दीपांशु का।

शनिवार को जिला मुख्यालय कन्नौज से करीब पांच किमी दूर बसे गांव देवा-नजरापुर में सरस्वती शिशु-विद्या मंदिर में डॉ. वरूण सिंह कटियार ने डेंटल कैंप लगाया। इसमें ‘गाँव कनेक्शन’ फाउंडेशन का भी सहयोग रहा। डॉ. कटियार बताते हैं, ‘‘बालू और राख से दांत साफ करने की वजह से दांत खराब हो जाते हैं। दाग भी पड़ जाते हैं। इसलिए कोई भी अच्छा टूथपेस्ट इस्तेमाल करना चाहिए।’’

ये भी पढें-गाँव कनेक्शऩ फाउंडेशन ने लगाया डेंटल कैंप,गलत आदतों से बढ़ रही दांतों की बीमारियां

डॉ. कटियार आगे कहते हैं, ‘‘मुंह की दुर्गंध और कीटाणु मारने के लिए ब्रश किया जाता है। गंदगी की वजह से ही पेट में दर्द होने लगता है। दांतों में अधिक दिक्कत वाले बच्चों का इलाज फ्री में करूंगा।’’

व्यवस्थापक प्रमोद गुप्त ने बताया, ‘‘मेरे स्कूल में 100 बच्चों का चेकअप हुआ है। सभी को निशुल्क टूथपेस्ट और कुछ लोगों को दवाएं बांटी गई हैं। स्कूल के स्टाफ का भी चेकअप हुआ।’’

शिक्षिका ज्योति कहती हैं, ‘‘बच्चों को टूथपेस्ट मिला है। आदत में आ जाएगा। सुधार होगा।’’

भुगैतापुर गाँव निवासी कक्षा आठ की छात्रा शुभी सिंह बताती हैं, ‘‘मुझे आज ही पता चला है कि बालू और राख से दांत साफ नहीं करने चाहिए।’’


ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top