बच्चों ने ईंट मारकर भ्रूण को कुत्तों के चंगुल से छुड़ाया

बच्चों ने ईंट मारकर भ्रूण को कुत्तों के चंगुल से छुड़ायाप्रतीकात्मक फोटो।

मेरठ । एक तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी "बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ" का नारा दे कर देश में बेटियों के लिए एक सुरक्षित माहौल पैदा करने की कोशिश कर रहे, वही दूसरी तरफ मेरठ से सटे बागपत जनपद के सीसाना गाँव मे कन्या भ्रूण का एक मानवता को शर्मसार करने का वाकया सामने आया।

ये भी पढ़े- जानें देश-दुनिया में कब-कब आए भूकंप के बड़े झटके, लाखों लोगों की गईं जानें

घटना स्थल पर जमा लोग

बेटी पैदा होने पर उसके भ्रूण को सिसाना गांव में दिल्ली-सहारनपुर हाईवे के किनारे कूडे के ढेर में फेंक दिया गया। भ्रूण को घंटों तक कुत्ते नोचते रहे। इस दौरान जैसे ही कुत्ते कन्या भ्रूण लेकर यमुनोत्री हाइवे पर पहुंचे तो वहां खेल रहे कुछ बच्चों ने ईंट मारकर भ्रूण को कुत्तों के चंगुल से छुड़वा लिया। जिसके बाद बच्चों ने कुत्तों को वहां से भगा दिया जिसकी जानकारी होते ही कुछ लोग वहां पहुंचे और भ्रूण देखते ही उनके पैरों तले की जमीन खिसक गई।

ये भी पढ़े- किसान आगबबूला : महाराष्ट्र से लेकर मध्यप्रदेश तक सड़कों पर उतर ऐसे जताया विरोध

लोगों ने जब गौर से देखा तो वह कन्या का भ्रूण निकला। जिसके बाद ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया और काफी संख्या में ग्रामीण वहां पहुंचने लगे। जिसके बाद लोगों में यह बात चर्चा का विषय बन गयी।

सिसाना में हाईवे किनारे पड़े मिले भ्रूण का यह कोई पहला मामला नही है इससे पहले भी बागपत के अलावा बडौत, अग्रवाल मंडी टटीरी व अन्य स्थानों पर इस तरह के मामले प्रकाश में आ चुके है। मगर भ्रूण फेंकने वालों के खिलाफ कार्रवाई नही की जाती है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top