बच्चों का मनाया जाएगा जन्मदिन, होगा अन्नप्राशन

बच्चों का मनाया जाएगा जन्मदिन, होगा अन्नप्राशनस्कूलों में बच्चों के पोषण को लेकर उचित प्रबन्ध।

दीप कृष्ण शुक्ल, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

उन्नाव। गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं की देखभाल की बड़ी जिम्मेदारी निभाने वाला बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग जल्द ही नए कलेवर में नजर आने वाला है।

नवजात शिशुओं, गर्भवती महिलाओं और किशोरियों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बचपन दिवस, ममता दिवस और लाडली दिवस मनाने की तैयारियां चल रही हैं। इनमें एक दिन बच्चों तो दूसरे दिन गर्भवती महिलाओं और तीसरे दिन किशोरियों को न सिर्फ पोषक आहार दिया जाएगा बल्कि उन्हें स्वास्थ्य सम्बन्धी जांचें और सलाह दी जाएगी। इसके साथ विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे। यह कार्यक्रम प्रत्येक माह की 5, 15 व 25 तारीख को आयोजित किए जाएंगे।

शासन से मिले निर्देशों का अनुपालन कराया जा रहा है। पांच को बचपन, 15 को ममता दिवस और 25 को लाडली दिवस मनाया जाएगा। सम्बन्धित अधिकारियों को आयोजन के सम्बंध में दिशानिर्देश दे दिए गए हैं।
अदिति सिंह, जिलाधिकारी।

इन तिथियों पर अवकाश होने की दशा में अगले कार्य दिवस पर यह आयोजन किया जाएगा। इस सम्बन्ध महिला एवं बाल विकास अनुभाग 2 से शासनादेश भी 27 जून को जारी हो चुका है। भारत सरकार समन्वित बाल किसा कार्यक्रम के तहत आंगनबाड़ी केन्द्रों पर छह माह से छह वर्ष तक के बच्चों, गर्भवती व धात्री महिलाओं तथा 12 से 18 वर्ष आयु की किशोरियों को अनुपूरक आहार दिए जाते हैं। बाल्यावस्था, किशोरावस्था व गर्भावस्था जीवनचक्र की महत्वपूर्ण अवस्थाओं में स्वास्थ्य, पोषण और स्वच्छता पर विशेष ध्यान देकर मातृ शिशु पोषण स्तर में सुधार लाना ही इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य है।

ये भी पढ़ें- नवजात शिशुओं के टीकाकरण पहल को धर्मगुरुओं का मिला समर्थन, धार्मिक कार्यक्रमों में करेंंगे प्रचार

व्हाट्सऐप पर भेजनी होंगी फोटो

इन कार्यक्रमों का आयोजन कर इनमें निहित उद्देश्यों की पूर्ति हो सके, इसके लिए पर्यवेक्षण व अनुश्रवण की व्यवस्था भी की गई है। इसके तहत जिला कार्यक्रम अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी व क्षेत्रीय मुख्य सेविकाओं को निर्देश दिए गए हैं कि इन दिवसों पर होने वाली गतिविधियों को वे अपने मोबाइल से फोटो खींच कर निदेशालय स्तर पर बनाए गए व्हाट्सऐप ग्रुप पर अपलोड करेंगी।

पोषण सूचकांकों में वृद्धि लाने की इस प्रक्रिया को और रुचिकर तथा उत्साहपूर्ण वातावरण प्रदान करने के दृष्टिकोण से सूबे की योगी सरकार ने नई व्यवस्था की है। जिसे अमलीजामा पहनाने की दिशा में पहल हो चुकी है। आंगनबाड़ी केन्द्रों पर इन वितरण दिवसों को बचपन दिवस, ममता दिवस और लाडली दिवस के रूप में मनाने के निर्देश शासन से जारी हुए हैं। सचिव महिला एवं बाल विकास अनुभाग—2 अनीता सी मेश्राम द्वारा 27 जून को जारी शासनादेश में प्रदेश में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों पर प्रत्येक माह की 5, 15 व 25 तारीख को आयोजित होने वाले वितरण दिवस को क्रमश: बचपन दिवस, ममता दिवस और लाडली दिवस के रूप में मनाने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही यह भी स्पष्ट किया गया है कि इन तिथियों पर अवकाश होने की दशा में अगले कार्य दिवस पर यह कार्यक्रम आयोजित किए जाएं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top