जौनपुर : डार्क जोन ब्लॉकों में शुरू हुई तालाबों की खुदाई

Khadim Abbas RizviKhadim Abbas Rizvi   2 July 2017 6:17 PM GMT

जौनपुर : डार्क जोन ब्लॉकों में शुरू हुई तालाबों की खुदाईबुंदेलखंड ​की तर्ज पर जिले के 11 ब्लॉकों में खोदा जा रहा तालाब

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

जौनपुर। बुंदेलखंड जैसे हालात से बचने के लिए पूर्वांचल के उन ब्लॉकों में तालाब खोदने का काम शुरू हो गया है, जहां पर दिन ब दिन जल स्तर तेजी के साथ गिर रहा है। बात करें जौनपुर की तो अकेले 21 ब्लॉकों में 11 ब्लॉकों में जल स्तर कम होने की वजह से उसे डार्क जोन में डाला गया है।

ये भी पढ़ें: भू-माफिया का खेल: तालाब को बनाया खेत, नहर पर तबेला

इन जगहों पर अब किसानों को प्रेरित करके तालाब की खोदाई का काम शुरू किया गया है। यह तालाब 30 जून से पहले- पहले खुद जाने चाहिए थे लेकिन विभाग इसमें पिछड़ गया लेकिन दावा किया जा रहा है कि लक्ष्य के अनुसार तालाब की खोदाई हो जाएगी।

राज्य सरकार ने सभी जिलों के अधिकारियों को यह निर्देश दिया था कि वह किसानों को प्रेरित करें कि वह अपनी जमीन पर तालाब खोदवाएं। सरकार की यह मंशा है कि किसान सिंचाई में सिर्फ जमीन का ही नहीं बल्कि बारिश का भी पानी इस्तेमाल करें। ताकि उनके एरिया का जल स्तर अच्छा रहे।

ये भी पढें : तालाब की जल्द कराई जाएगी खुदाई, 37 साल पुराना पट्टा रदद

इसके लिए सरकार ने किसानों को तालाब खोदवाने के लिए आधा खर्च देने की बात कही है। एक तालाब खोदने में करीब एक लाख पांच हजार का खर्च आएगा। आधार सरकार वहन करेगी बाकी किसान। इसके लिए जिला स्तर पर कमेटी भी बनाई गई है। जिसका अध्यक्ष खुद जिलाधिकारी है।

बारिश के पानी को संचयित कर खेती-किसानी की योजना

जिलाधिकारी के निर्देशन में जौनपुर में डार्क जोन वाले 11 ब्लॉकों महाराजगंज, बदलापुर, बक्शा, बरसठी, ढोभी, मुफतीगंज, करंजकला, सिरकोनी, सिकरारा, धर्मापुर और केराकत ब्लॉक में पांच-पांच तालाब खोदे जाने का लक्ष्य मिला है। वहीं भूमि संरक्षण विभाग ने हर ब्लॉक से दस लोगों का चयन किया है। ऐसा इस लिया गया है कि यदि कोई किसान किसी वजह से तालाब खोदवाने से इनकार करता है तो फिर बाद में आवेदन करने वाले किसान के नाम पर विचार किया जाएगा। मालूम हो कि तालाब खोदवाने के लिए किसानों को भूमि संरक्षण विभाग ने प्रेरित भी किया था। इस वक्त तेजी के साथ तालाब खुदाई का काम चल रहा है।

भूमि सरंक्षण अधिकारी प्रथम ओंकार सिंह बताते है, “शासन से तालाब खोदाई का लक्ष्य मिला था। उस लक्ष्य को पूरा कर लिया जाएगा। किसानों को तालाब खोदवाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top