प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दो दिवसीय बनारस दौरे पर, जनता को देंगे करोड़ों की सौगात 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दो दिवसीय बनारस दौरे पर, जनता को देंगे करोड़ों  की सौगात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 

वाराणसी| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। उनके आगमन को लेकर पूरे शहर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2.45 बजे वायुसेना के विशेष विमान से बनारस पहुंचे। हवाईअड्डे पर राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया। इसके बाद वह हेलीकॉप्टर से पुलिस लाइन के लिए रवाना हो गए।

ये भी पढ़ें-पांच साल के मासूम ने सुसाइड नोट में लिखा “प्लीज़, मैम से कहिएगा कि वो किसी को ऐसी सज़ा ना दें”

भाजपा के पूर्वी उत्तर प्रदेश मीडिया प्रभारी संजय भारद्वाज ने बताया कि प्रधानमंत्री अपने दौरे के दौरान वाराणसी में 17 परियोजनाओं का लोकार्पण और छह परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। हवाईअड्डे पर विमान से उतरते ही सूबे के गवर्नर राम नाइक व सीएम योगी आदित्यानाथ ने उनकी आगवानी की। इस दौरान आईजी, डीआईजी, एडीजी, जिलाधिकारी, एसएसपी, कमिश्नर सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें-पश्चिम बंगाल : दुर्गा प्रतिमा विसर्जन पर ममता सरकार का नया अड़ंगा

बड़ा लालपुर में वह काशी के विकास से जुड़ी 19 परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित किया, जबकि 10 परियोजनाओं की आधारशिला रखी। विजय पर्व दशहरा से पहले शारदीय नवरात्र की द्वितीया को 10 नई परियोजनाओं की सौगात देंगे। प्रधानमंत्री की ओर से दी जाने वाली इस सौगात को ‘स्वच्छता ही सेवा’अभियान के तहत वाराणसी में चलाए गए अभियान में आम लोगों की बढ़-चढ़कर भागीदारी करने के लिए रिटर्न गिफ्ट माना जा रहा है।

नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र को नया मुकाम देने के लिए पिछले तीन साल से लगातार कोशिश कर रहे हैं। रिंग रोड हो या फिर फोर लेन रोड या फिर आईपीडीएस सिस्टम के जरिए संसदीय क्षेत्र वाराणसी को हाईटेक बनाने की कवायद की जा रही है। मोदी वाराणसी में 22 घंटे तक रुकेंगे। इस दौरान पीएम काशी की जनता को करीब 17 योजनाओं सहित 846.50 करोड़ की सौगात देंगे। इसके अलावा वाराणसी से वड़ोदरा के बीच चलने वाली नई ट्रेन का शुभारंभ किया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top