गेहूं किसानों को योगी का बड़ा सहारा : सीधे होगी खरीद और खाते में पहुंचेगा पैसा

गेहूं किसानों को योगी का बड़ा सहारा : सीधे होगी खरीद और खाते में पहुंचेगा पैसाउत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गेहूं किसानों को ‘बिचौलियों' से मुक्ति दिलाने के महत्वपूर्ण कदम के तहत योगी आदित्यनाथ सरकार ने आज एक महत्वपूर्ण फैसला करते हुए राज्य में पांच हजार गेहूं खरीद केंद्रों के जरिए 80 लाख टन गेहूं की सीधी खरीद का फैसला किया्र। मुख्यमंत्री योगी की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिपरिषद की पहली बैठक में तय किया गया कि राज्य भर में सरकार पांच हजार गेहूं खरीद केंद्र बनाएगी।

ये भी पढ़ें- यूपी में 2 करोड़ 15 लाख किसानों के आए अच्छे दिन, 1 लाख रुपए तक के कर्ज माफ

राज्य कैबिनेट बैठक के बाद उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘अभी तक पांच लाख टन और आठ लाख टन की खरीद होती थी। हमारी सरकार ने 80 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा है. चालीस लाख टन पहले चरण में और कुल लक्ष्य 80 लाख टन का रखा गया है।''

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

शर्मा ने बताया कि किसानों को उनके गेहूं के लिए 1625 रुपए प्रति क्विंटल का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) तो मिलेगा ही, उसके अलावा दस रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से ढुलाई और लदाई का भी दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारियों को आदेश जारी किए गए हैं कि अगर किसी जिले में किसानों की ज्यादा मांग है तो अविलंब उस जिले में खरीद केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाए। शर्मा ने कहा कि सरकार सुनिश्चित करेगी कि सभी खरीद केंद्रों पर पानी और पर्याप्त छाया की व्यवस्था हो।

किसान से उसके आधार कार्ड या अन्य ऐसे ही दस्तावेज के आधार पर सीधी खरीद की जाए। धन सीधा उसके खाते में जमा कराया जाए और बिचौलियों से किसान को मुक्ति मिले। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी ने आश्वस्त किया है कि खरीद केंद्र पर किसी भी तरीके से किसान का उत्पीड़न नहीं होने देंगे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top