Top

एक दिन बाद थी बेटी की शादी, खेत में रोपाई के लिए गए पिता की ट्रैक्टर पलटने से हो गई मौत

यह दुखद घटना उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले के पिसावां थाना क्षेत्र के माल्हा गाँव की है जहाँ खेत में धान की रोपाई के दौरान काम करते-करते ट्रैक्टर के पहियों में मिट्टी भर गयी और ट्रैक्टर पलट गया।

Mohit ShuklaMohit Shukla   29 Jun 2020 3:16 PM GMT

सीतापुर। परिवार में दो दिन बाद बेटी की शादी थी, घर में हंसी-ख़ुशी का माहौल था, मगर जैसे किस्मत में कुछ और ही लिखा था। खेत में धान लगाने के लिए गए किसान पिता की लेवा मारते वक़्त दर्दनाक मौत से सारी खुशियाँ मातम में तब्दील हो गईं।

यह दुखद घटना उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले के पिसावां थाना क्षेत्र के माल्हा गाँव की है जहाँ खेत में धान की रोपाई के दौरान काम करते-करते ट्रैक्टर के पहियों में मिट्टी भर गयी और ट्रैक्टर पलट गया। इससे ट्रैक्टर चला रहे किसान महेंद्र अवस्थी (41 वर्ष) ट्रैक्टर के नीचे दब गए और मौके पर ही उनकी मौत हो गयी।

महेंद्र के घर में 30 जून को बेटी शिवानी की बारात आनी है। मगर इस घटना के बाद परिवार के मुखिया का साया उसके आश्रितों के सिर से उठ चुका है। पांच लोगों के परिवार में महेंद्र अकेले कमाने वाले थे।

शादी की तैयारियों को लेकर गाँव पहुंचे मृतक के भाई मदन अवस्थी बताते हैं, "घर की आर्थिक स्थिति पहले से ही ठीक नहीं थी, महेंद्र के पास सिर्फ 10 बीघा खेत था, इसके अलावा दूसरे के खेतों में भी मजदूरी करके महेंद्र थोड़ी बहुत कमाई कर लेता था, मगर उसकी मौत से अब ये विपदा परिवार के लिए और भी कष्टकारी है।"

अपने पति की मौत पर बिलखती पत्नी मीना देवी, 30 जून को है बेटी की शादी। फोटो : गाँव कनेक्शन

महेंद्र के तीन बच्चे हैं, बड़े बेटे प्रदीप (20 वर्ष), बेटी शिवानी (18 वर्ष) और कुलदीप (14 वर्ष)। महेंद्र के शव देखकर बिलखती महेंद्र की पत्नी मीना देवी को देखकर तीनों बच्चों के भी आंसू थम नहीं रहे थे।

बड़े बेटे प्रदीप बताते हैं, "पिताजी बड़ी मुश्किल से बहन की शादी कर पा रहे थे, कई लोगों से उधार भी लिया था, मगर हमें कुछ भी नहीं पता है। अब बहन की शादी कैसे होगी, कौन करेगा बहन का कन्यादान, ईश्वर ने ऐसा खेल खेला है कि वह अपनी बेटी का कन्यादान भी नहीं कर सके।"

ऐसा नहीं है कि महेंद्र के साथ हुआ यह हादसा पहली बार किसी किसान के साथ हुआ है। दूसरों की थाली में अन्न पहुँचाने वाले किसानों के साथ ऐसे हादसे पहले भी सामने आते रहे हैं मगर अचानक महेंद्र की मौत से परिवार पर बड़ी विपदा आ गयी है।

दूसरी ओर इन परिस्थितियों में भी महेंद्र की बेटी शिवानी की शादी न रुके, इसके लिए भी गाँव के लोग मदद के लिए सामने आ रहे हैं। क्षेत्र के इलाहाबाद बैंक के मैनेजर कमलेश पाण्डेय बताते हैं, "यह स्थिति महेंद्र के परिवार के लिए वास्तव में बहुत दुखदायी है। बेटी की शादी न रुके इसलिए हम लोग भी आर्थिक रूप से कुछ मदद करने की कोशिश कर रहे हैं। उम्मीद है कि परिवार जल्द ही इस दुखदायी घटना से उबर सके।"

यह भी पढ़ें :

सूखी रोटी भी इनके लिए लग्जरी है, दूरदराज के गांवों की कड़वी हकीकत दिखाती 14 साल की एक लड़की

सब्जी मंडी खुल गई, लेकिन खरीददार नहीं, खेत के बाहर पड़ा है सैकड़ों कुंतल कद्दू


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.