यूपी सरकार ने डीजीपी सुलखान सिंह का कार्यकाल बढ़ाने के लिए केंद्र को भेजा पत्र

यूपी सरकार ने डीजीपी सुलखान सिंह का कार्यकाल बढ़ाने के लिए केंद्र को भेजा पत्रसुलखान सिंह।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के डीजीपी सुलखान सिंह का कार्यकाल तीन महीने बढ़ सकता है। यूपी सरकार ने केंद्र सरकार को इसके लिए बीते मंगलवार रात को आवेदन भेज दिया है। अगर केंद्र इस पर राजी हो जाता है तो उनका कार्यकाल तीन महीने तक बढ़ जाएगा।

मूल रूप से बांदा जिले के रहने वाले सुलखान सिंह 30 सितंबर, 2017 को रिटायर हो रहे हैं। ऐसे में शुरुआत से ही यह संभावना जताई जा रही थी कि योगी सरकार उनका कार्यकाल बढ़ाने की भी सिफारिश करे, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट की यह गाइडलाइन है कि डीजीपी की तैनाती रिटायर होने के बाद भी दो वर्ष के लिए बढ़ाई जा सकती है। मौजूदा डीजीपी सुलखान सिंह की सख्त और ईमानदार छवि देखते हुए ही योगी सरकार ने इसका फैसला किया है।

ये भी पढ़ें : कारोबारियों को सुरक्षित माहौल देने के लिए यूपी में बनेगी एसएसएफ फोर्स

यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह के रिटायर होने के पांच दिन पहले ही योगी सरकार ने केंद्र में गृह विभाग को उनका कार्यकाल बढ़ाने के लिए पत्र लिखा है। इसकी पुष्टी गृह में तैनात अधिकारियों ने कर दी है, लेकिन इस संबंध में वह कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं। हालांकि गृह विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि, त्यौहारों के मौसम में नये डीजीपी को माहौल समझने में समय लगेगा, जिसे लेकर प्रदेश सरकार ने मौजूदा डीजीपी का ही कार्यकाल बढ़ाने के लिए केंद्र को आवेदन को भेज दिया है।

इससे पहले भी यूपी में कई डीजीपी का रिटायर होने के बाद भी कार्यकाल बढ़ाया गया है, जिसे नजीर बनाकर योगी सरकार ने भी मौजूदा डीजीपी का कार्यकाल बढ़ाने का फैसला किया है। जबकि कार्यकाल बढ़ाने पर आखिरी फैसला केंद्र को लेना है, जो 29 सितम्बर तक लेने का संभावना है। वहीं प्रदेश का नया डीजीपी बनने की रेस में शामिल कई डीजी स्तर के अधिकारियों की उम्मीदों पर योगी सरकार ने पानी फेर दिया है।

इस रेस में प्रथम में डीजी फायर प्रवीण सिंह की दावेदारी सबसे मजबूत थी, जन्हें अगले वर्ष रिटायर भी होना है। वहीं दूसरे नम्बर पर सूर्य कुमार शुक्ला थे, जिनकी आस अब पूरी तरह खत्म हो गई है। उधर देश भर में डीजीपी का कार्यकाल बढ़ाने का बात करे तो इसमें प्रथम में तमिलनाडू राज्य है, जहां तत्कालीन मुख्यमंत्री ने वहां के डीजीपी का कार्यकाल दो वर्ष के लिए बढ़ाया था।

ये भी पढ़ें : योगी सरकार नए नियम बना शिक्षामित्रों की राह बना रही और मुश्किल : शिक्षा मित्र

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top