गांव की महिलाओं ने शहर के लोगों को ईको फ्रेंडली दिवाली मनाने के लिए किया जागरूक

गांव की महिलाओं ने शहर के लोगों को ईको फ्रेंडली दिवाली मनाने के लिए किया जागरूकगाँव की महिलाओं ने घर घर जाकर की अपील।

बनारस। होप वेलफेयर ट्रस्ट के तत्वाधान में रामसीपुर के ग्रीन ग्रुप की महिलाओं ने दुर्गा चरण इंटर कॉलेज सोनारपुरा में इको फ्रेंडली दिवाली मनाने हेतु बच्चों को शपथ दिलाई। खास बात यह है कि पिछले साल प्रमुख अखबारों की सूची में सोनारपुरा क्षेत्र सबसे अधिक प्रदूषित क्षेत्र में अव्वल था।

ग्रीन ग्रुप की महिलाओं ने सोनारपुरा के मोहल्लों के घर-घर में जा कर लोगों को दीया वितरित किया और लोगों से अपील की कि इस दीवाली सिर्फ मिट्टी के दीए जलाएं, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार में बढ़ोतरी हो। इसके साथ ही महिलाओं ने पटाखे न जलाने की अपील भी की।

ग्रीन ग्रुप का कहना है कि पटाखों की तेज आवाज से बूढ़े, बीमार तथा बेजुबान जानवरों को परेशानी होती है। सीओ स्नेहा तिवारी ने इस पहल की सराहना की। उन्होंने कहा कि होप संस्था पिछले 2 सालों से ग्रामीण उत्थान हेतु अनवरत लगा हुआ है। साथ ही साथ पुलिस के सहयोग में ग्रीन ग्रुप की महिलाओं का बहुत बड़ा योगदान रहा है। इस विधानसभा चुनाव में यह महिलाए पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कम मतदान प्रतिशत वाले क्षेत्रों में जाकर अपने देशी अंदाज में वहां के लोगों को जागरुक कर रही थी और इसका फायदा यह दिखा कि उन क्षेत्रों में 8 से 10% मतदान में इजाफा हुआ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉक्टर पद्मजा शर्मा और स्नेहा तिवारी थी। होप संस्था की तरफ से नेतृत्व कर्ता रवि मिश्र ने कार्यक्रम की अगुवाई की।

ये भी देखें:दीवाली में जियो लाया अपने ग्राहकों के लिए जबर्दस्त ऑफर

ये भी देखें:दिल्ली-एनसीआर में बिना पटाखों के मनेगी दीवाली, सुप्रीम कोर्ट ने बिक्री पर लगाई रोक

ये भी देखें:पर्यावरण में जहर घोल गए दीवाली के पटाखे

Share it
Share it
Share it
Top