जानें मुर्गियों में होने वाली बीमारियां और उनके टीके

मुर्गियों की सही बढ़ोत्तरी के लिए समय पर टीकाकरण के साथ आहार का विशेष ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

Diti BajpaiDiti Bajpai   31 Aug 2018 1:20 PM GMT

जानें मुर्गियों में होने वाली बीमारियां और उनके टीके

पोल्ट्री फार्मों में रोगों को फैलने से रोकने के लिए उनके उचित प्रबंधन के साथ टीकाकरण कराना बहुत जरूरी है। टीकाकरण कराने से मुर्गियों में मृत्युदर को काफी हद तक रोका जा सकता है। किस बीमारी के लिए कौन सा टीका लगवाएं, किस आयु में लगवाएं और कैसे लगवाना है इसके बारे में नीचे बताया गया है। अगर आप अपने फार्म में चूजों को ला रहे है तो छह दिन के बाद ही उनमें टीकाकरण कराने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है।

मुर्गिंयों के लिए सारिणी-

ब्रायलर (मांस) मुर्गी के लिए-

१.बीमारी- रानीखेत

टीका- एफ/बी—1

आयु- चार से छह दिन पर

कैसे दें- आंख—नाक से 1—1 बूंद या पीने के पानी में

२.बीमारी- गंबोरो

टीका- स्टैडर्ड/जीओरजिया इंटरमीडिएट प्लस

आयु- 12—14 दिन

कैसे दें- आंख—नाक में एक—एक बूंद या पीने के पानी में


अंडा देने वाली मुर्गियों एवं ब्रीडर मुर्गियों के लिए टीकाकरण सारिणी

१.बीमारी- मैरेक्स

टीका- एच वी टी

आयु - एक दिन

कैसे दें- 0.1 मि.ली. चमड़ी के नीचे

२.बीमारी- रानीखेत

टीका- एफ/बी—1

आयु- 4—6 दिन

कैसे दें- आंख—नाक में एक—एक बूंद या पीने के पानी में

यह भी पढ़ें- वीडियो में जाने बैकयार्ड मुर्गीपालन, कैसे उठा सकते हैं इसका लाभ

३.बीमारी- रानीखेत

टीका- आर 2 बी या आर डी कोल्ड वैक्सीन

आयु- 60 दिन

कैसे दें- 0.25—0.5 मि.ली.चमड़ी के नीचे

४.बीमारी- गंबोरो

टीका- स्टैडर्ड/जीओरजिया इंटरमीडिएट प्लस

आयु- 15—16 दिन

कैसे दें- आंख—नाक में एक—एक बूंद या पीने के पानी में

५.बीमारी- आईबी

टीका- आईबी

आयु- 21 दिन

कैसे दें- दो—दो बूंद पाने के पानी में

यह भी पढ़ें-ये हैं अपने ज़िले के सबसे बड़े अण्डा उत्पादक, दूसरे मुर्गीपालक इनसे लेते हैं सलाह

६.बीमारी- फाउल पॉक्स या माता रोग

टीका- माता का टीका

आयु- 42 दिन

कैसे दें- 0.1 मि.ली पंख के नीचे या मांस में

७.बीमारी- गंबोरो, रानीखेत एंव आई बी

टीका- कील्ड टीका (मल्टीकम्पोनेंट)

आयु- 112 दिन

कैसे दें- 0.5 मि.ली. चमड़ी के नीचे


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top