तरक्की की कहानी: टाटा ऐस ने बदली ब्रह्मदेव की ज़िंदगी 

तरक्की की कहानी: टाटा ऐस ने बदली ब्रह्मदेव की ज़िंदगी टाटा ऐस बना बेेहतर कमाई का जरिया

कभी दूसरों की गाड़ियां चलाने वाले ब्रह्मदेव यादव आज खुद की टाटा ऐस के मालिक हैं, वो आज खुद को शान से टाटा ऐस ड्राईवर कहते हैं।

ये भी पढ़ें- तरक्की की कहानी: पिता की मौत के बाद टूट गया था घर, टाटा ऐस ने बदल दी ज़िंदगी 

लखनऊ के बक्शी का तालाब ब्लॉक के दुबइला गाँव के रहने वाले ब्रह्मदेव यादव टाटा ऐस गाड़ी चलाते हैं। ब्रह्मदेव कहते हैं, "टाटा ऐस जबसे खरीदी है बहुत अच्छी चल रही है, चार-पांच कुंतल सब्जी, दूध आसानी से लाद लेता हूं। जबसे टाटा ऐस लिया बहुत शुकून में रहते हैं, सुबह 09 बजे घर से दूध लेकर मंडी आते हैं, उसके बाद भी अगर कुछ मिल जाता है तो उसे छोड़ने जाते हैं, इससे पहले ट्रैक्टर और दूसरी गाड़ियां भी चलायीं हैं लेकिन जितने अच्छे टाटा ऐस चलती है और कोई नहीं गाड़ी चलती है।"

ये भी देखिए:

ये भी पढ़ें- तरक्की की कहानी : ठेलिया खींचने वाले के हाथ में ‘छोटा हाथी’ आया तो जिंदगी बदल गई

ब्रह्मदेव

आज उनके पूरे घर का खर्च टाटा ऐस की कमाई से चल जाता है। अब वो दूसरों को भी टाटा ऐस खरीदने की सलाह देते हुए कहते हैं, "आजकल लोगों को टाटा ऐस ही ज्यादा पसंद आ रही है, कई लोगों ने टाटा ऐस खरीदा है, देखने में छोटी लगती है, लेकिन सामान ज्यादा लाद सकते हैं। ऐसे ही नहीं लोग इसे छोटा हाथी नहीं कहते हैं।"

अपने परिवार के साथ ब्रहमदेव

ये भी पढ़ें- कभी मां के इलाज के लिए बेचनी पड़ी थी ज़मीन, आज दूसरों की कर रहे मदद

Share it
Top