‘घरों तक बिजली पहुंचाने पर भारत ने बहुत अच्छा काम किया’

‘घरों तक बिजली पहुंचाने पर भारत ने बहुत अच्छा काम किया’विश्व बैंक ने की भारत की तारीफ।

देश के सभी गांवों तक बिजली पहुंचाने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार के काम की विश्व बैंक ने काफी सराहना की है। विश्व बैंक ने कहा कि घरों तक बिजली पहुंचाने पर भारत ने ‘बहुत अच्छा’ काम किया है। हाल में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी मोदी सरकार की उज्जवला योजना की सराहना करते हुए घरेलू प्रदूषण को कम करने के लिए प्रशंसा की थी।

विश्व बैंक की इस सप्ताह जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि देश की 80 प्रतिशत आबादी तक बिजली पहुंच गई है। विश्व बैंक ने कहा है कि 2010 से 2016 के मध्य भारत ने प्रतिवर्ष तीन करोड़ लोगों को बिजली उपलब्ध कराई है।

विश्व बैंक की लीड एनर्जी इकोनॉमिस्ट विवियन फोस्टर ने कहा, “भारत की 15 फीसदी जनसंख्या अब भी बिजली के पहुंच से दूर है। पूरी दुनिया के विद्यतीकरण के 2030 के लक्ष्य तक भारत शेष आबादी तक भी बिजली पहुंचाने में कामयाब रहेगा।“ यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब एक हफ्ते से भी कम समय पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सभी गाँवों के विद्यतीकरण की घोषणा की थी।

ये भी पढ़ें- WHO ने की उज्जवला योजना की तारीफ, माना- प्रदूषण घटाने में मददगार 

नरेंद्र मोदी सरकार की सौभाग्य योजना के तहत सभी गरीब परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जा रहा है। सरकार का कहना है कि दिसंबर 2018 तक देश के सभी घरों में बिजली होगी।

वहीं, हाल में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत में चलाई जा रही उज्जवला योजना की प्रशंसा करते हुए अपनी रिपोर्ट में यह माना है कि घरेलू प्रदूषण घटाने में उज्जवला योजना काफी मददगार साबित हो सकती है।

डब्ल्यूएचओ ने बुधवार को जारी की अपनी रिपोर्ट में दक्षिण पूर्वी एशिया में बढ़ते प्रदूषण पर चिंता जताई। इससे इतर रिपोर्ट में भारत की उज्जवला योजना के बारे में प्रशंसा की। केंद्र सरकार की ओर से वर्ष 2016 से शुरू हुई उज्जवला योजना के तहत गरीब महिलाओं को नि:शुल्क एलपीजी गैस कनेक्शन उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

(एजेंसी)

ये भी पढ़ें- UP, MP, राजस्थान, बिहार, आंध्र प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में आंधी-तूफान का खतरा बरकरार

अंबेडकर के नाम की दुहाई देते हैं, संविधान का सम्मान नहीं

फिल्म समीक्षा : 102 Not Out पिता का बेटे को वृद्धाआश्रम में छोड़ा जाना आपको अच्छा लगेगा

Share it
Top