UP, MP, राजस्थान, बिहार, आंध्र प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में आंधी-तूफान का खतरा बरकरार

UP, MP, राजस्थान,  बिहार, आंध्र प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में आंधी-तूफान का खतरा बरकरारहैदराबाद में आंधी-तूफान थमने के बाद सड़क पर गिरे पेड़ को मिलकर हटाते लोग।

मौसम विभाग ने देश के कई राज्यों में आंधी-तूफान की चेतावनी जारी की है। उत्तर प्रदेश और राजस्थान में भयंकर आंधी-तूफान से अब तक 110 से ज्यादा लोगों की मौत हो जाने के बाद मौसम विभाग ने अगले 72 घंटों में आंधी-तूफान आने की चेतावनी दी है। इसके अलावा मौसम विभाग ने शुक्रवार को मध्य प्रदेश अगले 24 घंटों में आंधी-तूफान की चेतावनी दी है, जबकि बिहार, उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश और नई दिल्ली के कई हिस्सों में आंधी और बारिश के आसार है।

अब तक आंधी-तूफान से उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 73, जबकि राजस्थान में 33 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। उत्तर प्रदेश में आगरा और राजस्थान में धौलपुर क्षेत्र आंधी-तूफान से सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र रहा है। आंधी-तूफान इतना प्रभावशाली रहा है कि जड़ों समेत बड़े-बड़े पेड़ उखड़ गए हैं। कई मकान ढह गए तो कई जगह बिजली खंभे सड़कों पर गिर गए।

मौसम विभाग ने 5 मई को जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में जहां आंधी तूफान के आसार जताए हैं, वहीं पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, ओडिशा और केरल में धूल भरी आंधी के साथ तूफान के आसार जताए हैं। मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिम राजस्थान में गर्मी की लहर की स्थिति में इसके प्रबल होने की संभावना बहुत अधिक है।

मौसम विभाग ने इन राज्यों में 7 मई तक धूल भरी आंधी, तूफान और भारी बारिश की संभावना जताई है। वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जहां अधिकारियों को आंधी-तूफान से प्रभावित लोगों की त्वरित सहायता पहुंचाने के आदेश दिए हैं, वहीं राजस्थान में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शुक्रवार का प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने के साथ लोगों से मिलेंगी।

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और राज्य के अन्य जिलों में शुक्रवार को आंशिक बदली का असर दिखाई दे रहा है, जिससे तापमान में कमी दर्ज की गई है। मगर मौसम विभाग ने 5 मई को राज्य के कई हिस्सों में आंधी-तूफान आने की आशंका जताई है। सरकार ने सभी जिलाधिकारियों को किसी भी प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा है।

उप्र मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता के अनुसार, “शुक्रवार को दिन में धूप निकलेगी लेकिन बीच-बीच में बदली का असर भी रहेगा। अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक की मामूली गिरावट आने की संभावना है।“

मौसम में गर्मी बढ़ने की वजह से आमतौर पर आंधी-बारिश की स्थिति देखी जाती है। मगर सिर्फ भारत ही नहीं, पूरी दुनिया में ग्लोबल वार्मिंग की वजह से गर्मी बढ़ रही है। ऐसे में देश के कई राज्यों में आंधी-तूफान की स्थिति बनी है। अगले कुछ दिनों तक इसका असर रह सकता है।
के. जे. रमेश, डायरेक्टर जनरल, मौसम विभाग

मध्य प्रदेश

वहीं मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में शुक्रवार को धूलभरी तेज आंधी चलने की चेतावनी दी है। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में राज्य के कई हिस्सों में गरज एवं चमक के साथ बौछारें पड़ने का अनुमान जताया है। इसके अलावा बालाघाट, मंडला, डिंडेारी, भिंड, ग्वालियर, दतिया, पन्ना, छतरपुर, टीकमगढ़ आदि स्थानों पर धूलभरी तेज आंधी चलने के आसार हैं।

नई दिल्ली

मौसम विभाग ने नई दिल्ली में शुक्रवार को आंशिक बदली छाई रहने के साथ कुछ हिस्सों में बारिश होने के आसार जताए हैं। राजधानी में शाम को गरज-तड़क के साथ बौछारें पड़ सकती है। स्काइमेट ने कहा कि हालांकि, बुधवार तक गर्मी नियंत्रण में रहेगी। दिल्ली में आठ मई के आसपास फिर बारिश हो सकती है।

स्काइमेट के निदेशक महेश पलावत ने कहा, "दूसरा पश्चिमी विक्षोभ मंगलवार को दिल्ली पहुंचेगा, तब तक तापमान 40 से नीचे बना रहेगा। हालांकि कल से (शनिवार) दिल्ली में तापमान में मामूली वृद्धि होगी।"

बिहार

बिहार की राजधानी पटना और राज्य के अधिकांश क्षेत्रों के तापमान में मामूली वृद्धि दर्ज की गई है। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, "अगले 24 घंटे के दौरान तापमान में मामूली वृद्धि होगी। इस दौरान राज्य के कई क्षेत्रों में तेज हवा के साथ बारिश होने की संभावना है।"

देश में आंधी-तूफान की गतिविधियों में तेजी को लेकर मौसम विभाग के डायरेक्टर जनरल के. जे. रमेश बताते हैं, "मौसम में गर्मी बढ़ने की वजह से आमतौर पर आंधी-बारिश की स्थिति देखी जाती है। मगर सिर्फ भारत ही नहीं, पूरी दुनिया में ग्लोबल वार्मिंग की वजह से गर्मी बढ़ रही है। ऐसे में देश के कई राज्यों में आंधी-तूफान की स्थिति बनी है। अगले कुछ दिनों तक इसका असर रह सकता है।"

ये भी पढ़ें- दूल्हे की मौत का लाइव वीडियो , अपने घर के शादी-समारोहों में ऐसे लोगों को न बुलाइएगा

अंबेडकर के नाम की दुहाई देते हैं, संविधान का सम्मान नहीं

Tags:    storm 
Share it
Share it
Share it
Top