हैदराबाद के छात्र ने बनाया देश की पहली बुलेट ट्रेन के लिए लोगो

हैदराबाद के छात्र ने बनाया देश की पहली बुलेट ट्रेन के लिए लोगोअहमदाबाद के 27 साल के एक छात्र चक्रधर आला

लखनऊ। मुंबई-अहमदाबाद चलने वाली देश की पहली बुलेट ट्रेन के लिए हैदराबाद के स्टूडेंट चक्रधर आला का लोगो सिलेक्ट हुआ।नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद के 27 साल के एक छात्र चक्रधर आला को बुलेट ट्रेन का लोगो बनाने का श्रेय मिला है। बुलेट ट्रेन का लोगो चुनने के लिए एक कॉम्पटिशन आयोजित किया गया था, जिसमें आला का लोगो अव्वल नंबर पर आया।

एन आई डी में पढ़ाई कर रहे हैं चक्रधर

ग्राफिक डिजाइन के दूसरे साल के पोस्ट ग्रेजुएट छात्र चक्रधर आला ने इस साल अप्रैल में हुए कॉम्पटिशन के तहत लोगो की डिजाइन की थी। आला ने अपने लोगो में इंजन पर चीते की डिजाइन बनाई है।

क्यों चुना ये लोगो

आला ने बताया कि उन्होंने लोगो में चीते को इसलिए चुना क्योंकि चीता रफ्तार और विश्वसनीयता को दिखाता है। बुधवार को आला को एनएचएसआरसीएल के द्वारका के ऑफिस में जानेमाने आर्टिस्ट सतीश गुजराल ने 1 लाख रुपए का पुरस्कार दिया। एनआईडी-बेंगलुरु के दो छात्र इस स्पर्धा में रनर अप रहे, जिनमें फर्स्ट रनर अप को 75,000 और सेकेंड रनर अप को 50,000 का पुरस्कार दिया गया।

ये भी पढ़ें- बुलेट ट्रेन परियोजना नोटबंदी जैसा कदम होगा : चिदंबरम

कई असफलताओं के बाद मिली बड़ी सफलता

उन्हें यह कामयाबी केंद्र सरकार के 30 कॉम्पिटीशन में फेल होने के बाद मिली। 27 साल के चक्रधर नाकामयाबियों से हारे नहीं, बल्कि हर बार नया लोगो बनाकर प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। आखिरकार बुलेट ट्रेन के लिए उनका लोगो चुना गया। जल्द ही इसे ऑफिशियली इस्तेमाल किया जाएगा। लोगो बनाने के जुनून के चलते दोस्त चक्रधर को 'लोगो मैैन' बुलाते हैं। उन्हें इस लोगो पर 1 लाख रुपए का इनाम भी मिलेगा।

चक्रधर आला कहते हैं, ''अगर कोई इस लोगो को करीब से देखे तो उसे ट्रेन और चीते जैसी आकृति दिखेगी। इसमें बनाए गए प्वाइंट्स स्टेशन और इसके रूट को दिखाते हैं। डिजाइन में बुलेट ट्रेन के कई पहलुओं को शामिल किया है। इसमें चीता- हाई स्पीड, क्रेडिविलिटी और भरोसे को दिखाता है। लोगो में इसके शरीर पर उकेरे गए प्वाइंट्स रेल नेटवर्क के साथ किसी ट्रेन का नक्शा है।''

ये भी पढ़ें- कितना होगा बुलेट ट्रेन का किराया, कितनी होगी स्पीड, जानिए इससे जुड़ी सारी बातें...

पहले भी लेते रहें हैं हिस्सा

चक्रधर के मुताबिक, उन्होंने स्वच्छ भारत और “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” जैसे कई प्रोग्राम्स के लोगो भी बनाए थे, लेकिन सिलेक्ट नहीं हुए। केंद्र सरकार के पोर्टल MyGov.in पर हुई लोगो प्रतियोगिता की ज्यूरी को ट्रेननुमा चीता की डिजाइन पसंद आई। यह मेरी पहली जीत है।

ये भी पढ़ें- कैसी होगी भारत की पहली बुलेट ट्रेन, सरकार ने जारी किया पहला लुक, देखें वीडिओ

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top