Astha Singh

Astha Singh

Swayam Desk


  • ठंडी में पीजिये हल्दी वाला दूध, रहिये संक्रमण से दूर 

    स्वास्थ्य के लिए हल्दी का दूध बेहद ही फायदेमंद होता है, खासकर कि ठंड के मौसम में ये आपके सुरक्षा कवच के रूप में काम करता है। हल्दी अपने एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुणों के लिए जानी जाती है, और दूध, कैल्शि‍यम का स्त्रोत होने के साथ ही शरीर और दिमाग के लिए अमृत के समान हैं। लेकिन जब इन दोनों के गुणों...

  • विश्व मानवाधिकार दिवस: बारीकी से जानें अपने अधिकार 

    एक देश में महेश नाम के एक फिल्म स्टार को कोर्ट चार लोगों को शराब पीकर कुचलने के बावजूद मामूली जुर्माना लगा कर छोड़ देती है। इस फिल्म स्टार की शख्सियत और पहुंच बहुत ऊंची होती है इसलिए कानून उसकी पूरी मदद करता है। चार मासूम लोगों की जिंदगी को तबाह करने के बाद भी वह समाज में आजाद घूमता है।वहीं दूसरी...

  • विश्व मानवाधिकार दिवस- जानें कैसे लड़ें अपने हक़ की लड़ाई ? 

    मानवाधिकार दिवस हर साल 10 दिसंबर को दुनिया भर में मनाया जाता है। वर्ष 1948 में पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 10 दिसंबर को हर साल इसे मनाये जाने की घोषणा की गयी थी। इसे सार्वभौमिक मानव अधिकार घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा के सम्मान में प्रतिवर्ष इसे विशेष तिथि पर मनाया जाता है।...

  • शहद एक शानदार दवा है, जानिए इसके 10 बड़े फायदे

    लखनऊ। शहद या मधु हमेशा से रसोई में इस्तेमाल होने वाला एक स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ रहा है, साथ ही सदियों से एक महत्वपूर्ण औषधि के रूप में भी उसका इस्तेमाल होता है। दुनिया भर में हमारे पूर्वज शहद के कई लाभों से अच्छी तरह परिचित थे। भारत में शहद सिद्ध और आयुर्वेद चिकित्सा का एक महत्वपूर्ण अंग है जो...

  • इस फल के सेवन से होंगे अनेक फायदे

    लखनऊ। अमरूद की साल में दो फसलें, पहली बरसात में और दूसरी सर्दियों के मौसम में तैयार की जाती हैं। ज़्यादातर किसान शीतकालीन फसल पर निर्भर हैं। इसका कारण यह है कि बरसात में होने वाली फसल की गुणवत्ता कम पाई जाती है। इसके साथ ही फसल में कीटों का भी प्रकोप होता है इसलिए व्यवसाय को देखते हुए किसान...

  • बार-बार शौच जाने का कारण हो सकता है -इरिटेबल बॉएल सिंड्रोम

    लखनऊ। आईबीएस एक ऐसा विकार है जिसमे बड़ी आंत प्रभावित होती है। इस रोग में मरीजों की आंत की बनावट में कोई बदलाव नही होता है, इसलिए कई बार इसे सिर्फ रोगी का वहम ही मान लिया जाता है। लेकिन आँतों की बनावट में कोई बदलाव ना आने के बावजूद भी रोगी को कब्ज या बार-बार दस्त लगना, पेट में दर्द, गैस जैसी समस्याएं...

  • पॉश कॉलोनी में बिना खेत सुजाता नफड़े उगाती हैं जैविक सब्जियां और फल

    पुणे (महाराष्ट्र)। खेती किसानी के लिए पर्याप्त खेत या जमीन होना आवश्यक होता हैं, लेकिन महाराष्ट्र की एक महिला ऐसी भी है जिसके पास न तो तो खेत है और न ही जमीन फिर भी वह सब्जियों और फलों का उत्पादन करती है।महाराष्ट्र की सुजाता नफड़े (40 वर्ष) अपने परिवार को खिलाने के लिए पर्याप्त जैविक सब्जियां और...

  • प्लास्टिक मल्चिंग विधि का प्रयोग कर बढ़ा सकते हैं सब्जी और फलों की उत्पादकता

    किसानों के लिए खरपतवार सबसे बड़ा सिर्द बनते हैं। इनसे फसल को बचाने के लिए किसान निराई गुड़ाई कराते हैं लेकिन इस पर काफी खर्च है। ऐसे मल्चिंग काफी कारगर हो सकती है।कई किसानों के सामने ये समस्या आती है कि उनके खेत में फसलों की उत्पादकता धीरे धीरे कम हो रही है, ऐसे किसान प्लास्टिक मल्चिंग का प्रयोग...

Share it
Top