बिहार में मिलेगा दुनिया में सबसे सस्ता पेयजल

बिहार में शुरू की गई एक पेयजल परियोजना से प्रदेश के लोगों को दुनिया में सबसे सस्ता पीने का पानी मिलेगा। परियोजना के तहत लोगों को 50 पैसे में एक लीटर पीने का पानी मुहैया करवाने का वादा किया गया है।

बिहार में मिलेगा दुनिया में सबसे सस्ता पेयजलप्रतीकात्मक तस्वीर

पटना। बिहार में शुरू की गई एक नवोन्मेषी और लागत प्रभावी पेयजल परियोजना से प्रदेश के लोगों को दुनिया में सबसे सस्ता पीने का पानी मिलेगा। परियोजना के तहत लोगों को 50 पैसे में एक लीटर पीने का पानी मुहैया करवाने का वादा किया गया है। सुलभ इंटरनेशनल ने दरभंगा में शनिवार को 'सुलभ जल' नाम से इस परियोजना का शुभारंभ किया। इस परियोजना में तालाब के गंदे पानी को स्वच्छ पेयजल में बदला जाएगा।

Water Index : पानी बना नहीं सकते, बचा तो लीजिए

प्रतीकात्मक तस्वीर

सामाजिक संगठन ने कहा है, " एक दशकों पहले सुलभ इंटरनेशनल द्वारा बिहार में ही सुलभ शौचालय की संकल्पना की नींव पड़ी थी जिसका प्रसार देशभर में हुआ। एक नवोन्मेषी परियोजना की नींव रखी गई जिसके तहत दुनिया में सबसे सस्ता पीने का पानी महज 50 पैसे में एक लीटर मुहैया करवाया जाएगा।" संगठन ने कहा, "सुलभ जल शुद्धिकरण के विविध चरणों के माध्यम से उपलब्ध कराया जाएगा। यह नदी या तालाब जैसे जलाशयों से स्वच्छ व सुरक्षित जल मुहैया करवाएगा।" सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक बिंदेश्वर पाठक ने दरभंगा नगर निगम परिसर स्थित हरिबोल तालाब में परिजयोजना की नींव रखी।

देश के ग्रामीण क्षेत्रों में 17 प्रतिशत परिवारों को ही घर में मिल रही पेयजल सुविधा


पाठक ने कहा, "परियोजना जल्द शुरू की जाएगी। दिसंबर तक यह चालू हो जाएगी।" इस परियोजना पर करीब 20 लाख रुपये की लागत आएगी और इसमें 8,000 लीटर पेयजल रोजाना निकाला जाएगा जिसकी लागत नाममात्र होगी। उन्होंने कहा, "स्थानीय लोग और एनजीओ इसका रखरखाव कार्य संभालेंगे। समुदाय की सक्रिय भागीदारी से यह परियोजना चलेगी। इसमें रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे।" प्रायोगिक परियोजना पश्चिम बंगाल के 24 परगना, मुर्शिदाबाद और नादिया जिलों में सुलभ और एक फ्रांसीसी संगठन के साथ शुरू की गई थी जो सफल रही।

साभार: एजेंसी

जल लुप्तप्राय हो रहा है, नासा ने दी चेतावनी

Share it
Share it
Share it
Top