पेट्रोल डीजल क्या 100 रुपए लीटर बिकेगा

पेट्रोल डीजल क्या 100 रुपए लीटर बिकेगापेट्रोल और डीजल महंगा हो गया है।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं और बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र नई दिल्ली और अन्य महानगरों में इनकी कीमतें नई ऊंचाई पर पहुंच गई हैं। भाजपा सरकार के वर्ष 2014 में सत्ता में आने के बाद पेट्रोल, डीजल दोनों पेट्रोलियम उत्पादों का यह उच्चतम स्तर है।

इंडियन ऑयल कॉर्प के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में पेट्रोल 72.43 रुपए प्रति लीटर की दर से बेचा जा रहा है, जो पिछले तीन साल की सर्वाधिक ऊंची कीमत है। पिछली बार साल 2014 के अगस्त में इसकी कीमत 72.51 रुपए प्रति लीटर थी। कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल क्रमश: 75.13 रुपये, 80.30 रुपये और 75.12 रुपए प्रति लीटर की दर से बेचा जा रहा है।

इससे पहले कोलकाता में पेट्रोल की कीमतें 2014 के अक्टूबर में सर्वोच्च स्तर पर थीं और 75.46 रुपए प्रति लीटर थी। मुंबई में साल 2014 के अगस्त में 80.60 रुपए प्रति लीटर थी और चेन्नई में साल 2014 के अगस्त में ही सबसे ऊंची दर 75.78 रुपए प्रति लीटर थी।

ये भी पढ़ें- बारिश-बर्फबारी से किसानों और पर्यटकों के चेहरे खिले

दिल्ली में बुधवार को डीजल की कीमत 63.38 रुपए प्रति लीटर रही। वहीं, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में क्रमश: 66.04 रुपए, 67.50 रुपए और 66.84 रुपए प्रति लीटर रही।

ये भी पढ़ें- अच्छी खबर, ईरान ने बासमती के निर्यात से प्रतिबंध हटाया

डीजल का व्यापक उपयोग माल ढुलाई में होता है, जिसमें खाद्य उत्पादों की ढुलाई भी शामिल है। इसकी कीमतें बढ़ने से विभिन्न उत्पादों की कीमतें बढ़ जाती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि डीजल की कीमतें बढ़ने से मुद्रास्फीति बढ़ेगी।

ये भी पढ़ें- खाते में पैसा न पहुंचने से परेशान मनरेगा मजदूर

पेट्रोलियम मंत्रालय की उत्पाद शुल्क कटौती की मांग

पेट्रोलियम मंत्रालय ने दाम में तेजी को देखते हुए उत्पाद शुल्क कटौती की मांग की है। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों की ईंधन कीमत सूची के अनुसार दिल्ली में पेट्रोल का भाव मंगलवार को बढ़कर 72.38 रुपए प्रति लीटर पहुंच गया। मार्च 2014 के बाद यह इसका सबसे ऊंचा स्तर है। दिसंबर मध्य से कीमत में 3.31 रुपए लीटर की वृद्धि हुई है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 80 रुपए के आंकड़े को पार कर गई है। जबकि मुंबई में डीजल का भाव 67.30 रुपए लीटर पर पहुंच गया है।

ये भी पढ़ें- इस गांव में पक्षियों की भाषा में बात करते हैं लोग, यूनेस्को की हेरीटेज लिस्ट में शामिल

इसका कारण स्थानीय बिक्री कर (वैट) का अधिक होना है। तेल कंपनियों के अनुसार दिसंबर-मध्य से डीजल में 4.86 रुपए लीटर की वृद्धि हुई है। अंतरराष्ट्रीय तेल बाजारों में दाम में तेजी को देखते हुए पेट्रोलियम मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय से 2018-19 के केंद्रीय बजट में उत्पाद शुल्क में कटौती की मांग की है। संसद में बजट अगले सप्ताह पेश किया जाएगा।

पेट्रोलियम सचिव केडी त्रिपाठी ने कल कहा था कि मंत्रालय ने उद्योग से मिले सुझाव के आधार पर सिफारिशें विचार के लिए भेजीं हैं। हालांकि, उन्होंने इस बारे में कोई ब्योरा देने से मना कर दिया।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

केंद्र सरकार पेट्रोल पर 19.48 रुपए प्रति लीटर तथा डीजल पर 15.33 रुपए प्रति लीटर उत्पाद शुल्क लेती है। जबकि दिल्ली में पेट्रोल पर वैट 15.39 रुपए और डीजल पर 9.32 रुपए है।

दो प्रमुख मानक ब्रेंट और अमेरिकी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट क्रूड आज बढ़कर क्रमश: 69.41 डालर प्रति बैरल तथा 63.99 डालर प्रति बैरल पर पहुंच गए। पिछले साल जून से पेट्रोल और डीजल की कीमत दैनिक आधार पर संशोधित की जा रही है।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top