एक आम लड़की के संघर्ष की कहानी दिखाता ये वीडियो देता है कई संदेश

एक आम लड़की के संघर्ष की कहानी दिखाता ये वीडियो देता है कई संदेशफिल्म का पोस्टर।

अस्मिता जाधव

मध्य प्रदेश। आज की तारीख में डिजिटल मीडिया क्रांति का पर्याय बन गया है और यूट्यूब सबका पसंदीदा वह हथियार है जहां से क्रांति सिर्फ एक बटन के क्लिक भर की दूरी पर है। ऐसा ही एक वीडियो आजकल यूट्यूब पर चल रहा है जिसमें बुंदेलखंड की एक और झांसी की रानी के नाम से मशहूर बहादुर लाडकुंवर कुशवाहा की कहानी एक सन्देश से साथ बताई गई है जो और भी मारक है।

इस साल की शुरुआत में हर किसी ने 21 वर्षीय लाडकुंवर और गाँव के छोटे सरकारी स्कूल से 40 किलोमीटर दूर कॉलेज जाकर पढ़ने की उनकी प्रेरक यात्रा को देखा। उसने न सिर्फ अपनी पढ़ाई पूरी की बल्कि रास्ते में आनी वाली हर रुकावट का सामना कर उसको हरा दिया।

“मुझे ख़ुशी है कि मेरी कहानी इन्टरनेट पर पहुंची है क्योंकि इस तरह यह अब ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच सकेगी। मैं कुछ भी कर सकती हूं कि डॉ स्नेहा माथुर से मैंने प्रेरणा ली। अगर एक छोटे गाँव से होकर वो डॉक्टर बन सकती है तो मैं भी जो चाहे कर सकती हूं। अब समय आ गया है कि देश की हर लड़की ऐसा ही महसूस करे और ये वीडियो इसके लिए आदर्श शुरुआत है, “लाडकुंवर कुशवाहा ने कहा।

पितृसत्तात्मक समाज का हिस्सा लाडकुंवर कुशवाहा के पिता अब अपनी बेटी के भविष्य और शिक्षा को लेकर हर संभव कोशिश कर रहे हैं। इसके बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा, “हम अपनी बेटी को हारने नहीं दे सकते। हम जो भी कमाएंगे, अपनी बेटी की शिक्षा और उसके उज्जवल भविष्य पर खर्च करेंगे।”

प्रसिद्ध निर्देशक फिरोज खान ने कहा, “जब हमने ये शो शुरू किया तो हमें चिंता थी कि शो को लोग किस तरह लेंगे लेकिन 131 एपिसोड और दो बेहद सफल सीजन के बाद हमें महसूस हुआ कि लोगों की प्रतिक्रियाएं बेहद उत्साहजनक रही हैं।”

ये भी पढ़ें:लेखक बने नवाजुद्दीन सिद्दीकी

पापुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया की एक्सेक्युटिव निदेशक पूनम मुत्रेजा ने कहा, “हमने ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ के जरिये लोगों के दिलों को छुआ है। हमने पूरा ध्यान रखा था कि हमारा शो भाषणबाजी में न उलझ जाए क्योंकि हम प्रजनन स्वास्थ्य जैसे मुद्दे पर बात कर रहे हैं। हम बेहद खुश हैं कि इसने दर्शकों को शिक्षित करने के साथ साथ उनका भरपूर मनोरंजन भी किया है।”

यहां देख सकते हैं वीडियो:

दूरदर्शन ने हाल ही में घोषणा की थी कि ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ के 400 मिलियन दर्शकों की संख्या और बढ़ रही है। इसमें दो सीजन के कुल 131 एपिसोड्स, 13 भाषाओं में डब वर्जन के प्रसारण और 216 रेडियो स्टेशनों से प्रसारित उसी सामग्री के साथ पुनर्प्रसारण शामिल हैं।

ये भी पढ़ें: फ़िराक़ गोरखपुरी का क़िस्सा मुख़्तसर

Share it
Top