जमीन अधिग्रहण मुद्दे को धार देने में जुटी कांग्रेस , राहुल गांधी ने की हाईवे के रुट में बदलाव की मांग

जमीन अधिग्रहण मुद्दे को धार देने में जुटी कांग्रेस , राहुल गांधी ने की  हाईवे के रुट में बदलाव की मांगलखनऊ में एनएचएआई के अधिकारियों को ज्ञापन सौंपने जाते राहुल गांधी।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अपनी खोई सियासी जमीन तलासने के लिए कांग्रेस किसानों के साथ आवाज़ उठा रही है। जगदीशपुर में हाईवे निर्माण के दौरान जमीन अधिग्रहण से प्रभावित किसानों से मुलाकात करने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी लखनऊ पहुंचे, इस दौरान वो करीब 35 मिनट लखनऊ में रहे और वापस दिल्ली चले गए।

किसानों का कैसे भला होगा, सरकार की डिक्शनरी में खेती शब्द ही नहीं : टिकैत

मंगलवार को लखनऊ पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अमेठी के जगदीशपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण से प्रभावित किसानों को मदद का पूरा भरोसा दिया। राहुल ने लखनऊ के गोमतीनगर स्थित भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के क्षेत्रीय कार्यालय में अमेठी से आए करीब 90 किसानों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं को सुना। हालांकि राहुल भारी बारिश के बीच बाहर मौजूद मीडिया से कोई बात किए बिना ही वापस चले गए। इस दौरान राहुल के ऑफिस ने जरुर ट्वीट किया की राहुल गांधी ने अमेरी और रायबरेली के किसानों और व्यापारियों के हक और मुआवजे के लिए ज्ञापन सौंपा।

किसान बोले राहुल ने दिया मदद का पूरा भरोसा

राहुल से मुलाकात करने आए किसान अयूब ने कहा कि किसानों की जमीनों का अधिग्रहण किया जा रहा है। साथ ही उनके पुराने मकानों को ढहाया भी जा रहा है। उन्होंने बताया कि राहुल ने उनकी समस्याओं को सुना है और पूरी मदद का आश्वासन दिया है।

राहुल ने की जमीन अधिग्रहण से प्रभावित किसानों से मुलाकात, दिया मदद का आश्वासन

बता दें कि लखऩऊ और सुल्तानपुर क बीच राष्ट्रीय राजमार्ग 233 को चौड़ा किया जा रहा है जिसमें अमेठी और अंबेडकर नगर समेत कई जिलों में किसानों की जमीने आ रही हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने अपने संसदीय क्षेत्र के किसानों से मुलाकात की तो पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर पिछले कई दिनों से किसानों के लिए आंदोलन चला रहे हैं, उन्होंने अंबेडकर नगर जिले में धरना भी दिया। एनएएचआई ने उनकी मांगे मानने का भरोसा दिया है। ये मुद्दा सोमवार को राज्यसभा में भी उठा था। पार्टी के राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी ने किसानों के शोषण का आरोप लगाया था।

लखनऊ पहुंचे एक अन्य किसान मोहम्मद इमरान ने बताया कि जगदीशपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग पर फोरलेन के निर्माण कार्य के लिए 24 मीटर तक जमीन अधिग्रहित की जा रही है जबकि बाकी स्थानों पर 13-13 मीटर ही जमीन अधिग्रहित की गई है। जगदीशपुर के कठौरा में एनएचएआई ट्रक लेन तैयार कर रहा है। इसके रास्ते में उत्तर प्रदेश स्टेट इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन की जमीन आ रही है। कांग्रेस की मांग है कि ट्रक लेन में किसानों का ख्याल रखते हुए आधा किलोमीटर पीछे से डायवर्ट किया जाए। कांग्रेस ने सोमवार को किसानों का यह मुद्दा राज्यसभा में भी उठाया था।

इमरान ने कहा कि क्षेत्र के सैकडों किसान इस समस्या से प्रभावित हैं क्योंकि इससे उनके मकानों को खतरा है और 40 - 45 साल पुराने कई मकान ढहाए भी जा चुके हैं। प्रभावित किसानों के सिर पर छत का संकट आ गया है। उन्होंने बताया कि राहुल ने उन्हें आश्वासन दिया है कि वह जल्द ही अमेठी आएंगे और इस मामले पर किसानों की पूरी मदद करेंगे।

राहुल से मुलाकात के बाद एनएचएआई के अधिकारी राजीव अग्रवाल ने मीडिया को बताया कि रहुल ने अमेठी में कुल 600 लोग प्रभावित हो रहे हैं, किसी का घर, किसी का खेत किसी की दुकान जा रही है, जिस पर विचार किया जाए। हम लोग देखेंगे कि क्या हो सकता है क्योंकि ये पूरा मामला केंद्र सरकार के अंतर्गत आता है।” एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर किसानों के मुद्दे को लेकर '' हक मांगो अभियान '' के तहत पूरे यूपी में घूमकर किसानों और युवाओं की समस्याओं को सुन रहे हैं। उन्हें राज्य सरकार के खिलाफ एकजुट कर रहे हैं।

कांग्रेस सदस्यों ने कहा कि अंबेडकरनगर में किसानों का साथ दे रहे राज बब्बर पुलिस की कार्रवाई में घायल हो गए हैं। कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने शून्यकाल में कहा कि अंबेडकरनगर के धोड़ा गांव में लोगों के घर बगैर नोटिस दिए गिराए गए हैं। इस कार्रवाई का विरोध कर रहे गांव वालों के खिलाफ बल प्रयोग किया गया।

खेत-खलिहान : छोटे किसानों का रक्षा कवच कब बनेगा फसल बीमा ?

सोनिया गांधी और राहुल के गोद लिए गांवों के लोगों का दर्द सुनिए

Share it
Top