‘साहब नेताओं की भैंसे तो मिल जाती हैं, हमारे बच्चों का पता नहीं’

‘साहब नेताओं की भैंसे तो मिल जाती हैं, हमारे बच्चों का पता नहीं’कन्नौज के सखौली गाँव में बच्चे के आने की राह देखते दिनेश का परिवार

कन्नौज। ‘‘हमारे यहां नेताओं की भैंसे खुल जाती हैं तो 24 घंटे में पता लग जाता है। हमारे बेटे को खोए हुए 21 दिन हो गए अभी तक पता नहीं लग पाया है। कोई यहां गरीबों की सुनने वाला नहीं है। न कोई जांच-पड़ताल चल रही है और न ही हमारे बेटे की कोई खेजबीन की जा रही है।’’ यह कहना है दिनेश चंद्र राठौर (36 वर्ष) पुत्र मोहनलाल का।

इस विकराल समस्या से कन्नौज के तिर्वा कोतवाली क्षेत्र सखौली निवासी दिनेश ही नहीं जूझ रहे, बल्कि कई ऐसे परिवार हैं जो अपने 18 साल से कम उम्र के जिगर के टुकड़ों (किशोर और बालक) के कहीं चले जाने से परेशान हैं। दिनेश आगे बताते हैं, ‘‘चार दिसम्बर 2017 को गाँव से ही 13 साल का पुत्र गंगाराम उर्फ अखिलेश गायब हो गया था। उसे रिश्तेदारों और स्टेशनों पर तलाशा पर नहीं मिला। पुलिस को सूचना दी तो गुमशुदगी दर्ज कर ली है। अभी तक सत्ता पक्ष को कोई भी नेता नहीं आया है जो ढांढस ही बंधा सके।’’

दिनेश आगे बताते हैं, "दूसरा बच्चा अभिषेक (6 वर्ष) जो मेरा बच्चा है। वह न सुन पाता है और न बोल पाता है। जब से पैदा हुआ है इलाज चल रहा है। मैं मजदूरी और ईंट-गारा कर परिवार का खर्च चलाता हूं। खेती नहीं है, ढाई बीघा जमीन का पट्टा हुआ था, लेकिन वहां कुछ होता नहीं है।’’ दिनेश की 29 वर्षीय पत्नी बेबी बताती हैं, ‘‘मेरे पति सही से पानी तक नहीं पी पा रहे हैं। गम की वजह से चल भी नहीं पा रहे हैं। हम लोग रो-रोकर परेशान हैं।’’

लापता अखिलेश का फाइल फोटो।

ये भी पढ़ें:- कन्नौज: क्षेत्र की समस्याओं के प्रति सदर एसडीएम गंभीर

इतने बच्चे हुए लापता

पुलिस अधीक्षक कार्यालय के रिकार्ड के तहत एक जनवरी 2017 से 27 सितम्बर 2017 तक नौ बच्चे लापता थे। इसमें कन्नौज कोतवाली क्षेत्र से 29 जनवरी 2017 को 12 वर्षीय सुखयान अली पुत्र अनीश अली निवासी हैवतपुर कटरा, 29 जनवरी को ही सात साल की सोना पुत्री अकील निवासी षरीफापुर, नौ अगस्त को 15 वर्शीय रजनी पुत्री सुधीर निवासी खिम्मापुर्वा और 29 जुलाई को 12 वर्शीय सुफियान अली पुत्र अनीष अली निवासी हैवतपुर कटरा लापता हैं। इसी तरह ठठिया थाना क्षेत्र में आठ फरवरी को 15 साल के डम्पी पुत्र विनोद रैदास निवासी चंदौली की भी गुमशुदगी दर्ज है।

गुरसहायगंज कोतवाली क्षेत्र से 19 मार्च को 13 साल के अजय पुत्र श्रीपाल सिंह निवासी गुगरापुर और 23 मार्च को 14 साल के रामू पुत्र रामकरन निवासी भज्जापुर्वा के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज है। विशुनगढ़ थाना क्षेत्र के गांव भौराजपुर निवासी 16 साल की अर्चना पुत्री हरविलास के भी 25 जून को गायब होने की रिपोर्ट दर्ज है।

ये भी पढ़ें- यूपी को सूखाग्रस्त होने से बचाएंगे डीजी महेंद्र मोदी

कन्नौज से यह लापता हैं बच्चे।

क्या कहते हैं अधिकारी

कन्नौज सदर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक एके सिंह बताते हैं, ‘‘जो बच्चे लापता हैं वह मेरे कार्यकाल के नहीं हैं। ऐसे नहीं बता सकते हैं, कार्यालय में दिखवाकर बता पाएंगे कि क्या हुआ। उसी में दर्ज होगा।’’

ठठिया थानाध्यक्ष सुरेश कुमार बताते हैं, "देखना पड़ेगा कि बच्चा वापस आया कि नहीं, कल ही आया हूं मैं।"

केतवाली तिर्वा प्रभारी निरीक्षक अमरपाल सिंह का कहना है, ‘‘लड़का गायब है और कोई बात नहीं है। अगर अपहरण की बात होती तो खुलकर सामने आती। इनकी किसी से कोई दुश्मनी भी नहीं है। न ही इतने पैसे वाले लोग हैं। कोई मोबाइल का विवाद हुआ था गाँव में। हम लोगों ने गुमशुदगी दर्ज कर ली है। रिकार्ड भी दूसरे थानों को भेज दिए हैं।’’

ये भी पढ़ें:- जून तक दिल्ली में लापता हुए 3,500 बच्चे

Share it
Share it
Share it
Top