कन्नौज: क्षेत्र की समस्याओं के प्रति सदर एसडीएम गंभीर

कन्नौज: क्षेत्र की समस्याओं के प्रति सदर एसडीएम गंभीरनिरीक्षण करतीं एसडीएम सदर शालिनी प्रभाकर।

आभा मिश्रा, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

माता-पिता अपने बच्चों के भविष्य पर ध्यान दें। आज के बच्चे कल का भविष्य हैं। ये किसी भाषण की लाइनें नहीं है। ऐसा कहना है कन्नौज जिले की एसडीएम सदर शालिनी प्रभाकर का। बता दें कि उनके संज्ञान में सदर क्षेत्र के सढ़ियापुर गाँव का एक मामला आया था। इस गाँव के ग्रामीणों ने शिकायत की थी कि गाँव में जो देशी शराब का ठेका है वहां बच्चे भी शराब लेने जाते हैं जिसकी वजह से बच्चों का भविष्य खराब हो रहा है।

मामले को लेकर एसडीएम सदर ने आबकारी अधिकारी के साथ तफ्तीश शुरू की तो मामला सही पाया। दुकानदार ने भी ये बात कबूली कि बच्चे शराब लेने आते हैं। इस पर दुकानदार को एसडीएम ने भविष्य में ऐसा न करने की चेतावनी दी। वहीं बच्चों से जब पूछा गया तो उन्होंने बताया कि पिताजी या चाचा जी हमसे शराब मंगवाते हैं। इस पर शालिनी प्रभाकर ने बच्चों के माता-पिता को समझाया कि बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान दें। उन्हें समय से स्कूल भेजें और शराब की दुकानों पर शराब लेने के लिये न भेजें वरना आगे चलकर उन्हें भी शराब की लत लग सकती है। ग्रामीणों ने मांग की है कि शराब के ठेके को गाँव के बाहर किया जाये।

ये भी पढ़ें- यूपी को सूखाग्रस्त होने से बचाएंगे डीजी महेंद्र मोदी

वहीं दूसरी ओर तहसील क्षेत्र के सहनापुर में ग्रामीणों ने पानी का निकास न होने की शिकायत एसडीएम से की थी। जिस पर कार्रवाई करते हुए सीओ लक्ष्मीकांत गौतम और तहसीलदार ऋशिकांत राजवंषी के साथ मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लिया और समस्या का जल्द निस्तारण कराने का आश्वासन दिया।

एसडीएम शालिनी प्रभाकर ने बताया, ‘‘तहसील दिवस के अलावा दो-तीन बार शिकायत आई थी। कई ग्रामीण आए भी थे, उन्होंने मौके पर पहुंचकर स्थिति देखने की बात कही थी। उसके बाद हम लोग गांव पहुंचे। वहां पर गंदगी बहुत थी। जल्द ही काम शुरू करने को कहा गया है।’’ एसडीएम ने आगे बताया कि ‘‘सहनापुर गांव में एक-डेढ़ साल से नाली नहीं बन पाई। फिसलन और कीचढ़ की वजह से बच्चे स्कूल नहीं जा पाते हैं।

ये भी पढ़ें- गाँव को साफ रखने के लिए गाँव क्लीनिक बनाएगी दिल्ली सरकार

ग्रामीणों ने दीवार तोड़कर निकास बनाया।’’ उन्होंने आगे बताया, ‘‘गंदगी की वजह से डेंगू और मलेरिया भी फैल सकता है। इसको लेकर प्रधान और सचिव को फटकार लगाई गई। पास में ही तालाब है। उसमें गंदा पानी जाना चाहिए। करीब एक-डेढ़ लाख का स्टीमेट बना है। नाली और डामर रोड बनाया जाएगा।’’ ग्रामीणों ने चुनावी रंजिश में विकास कार्य न कराने का आरोप भी प्रधान पर लगाया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top