ट्रेन में बुखार से तपती बच्ची को ट्विटर ने दिलवाई दवा

ट्रेन में बुखार से तपती बच्ची को ट्विटर ने दिलवाई दवाट्रेन, फोटो प्रतीकात्मक

दीप कृष्ण शुक्ल

उन्नाव। सोशल मीडिया के ज्यादा प्रचलन को लोग भले ही खराब मानते हो लेकिन कुछ मामलों यह सुविधा बड़ी मददगार साबित होती है। कुछ एेसा ही हुआ राप्ती सागर एक्सप्रेस में सफर कर रहे सुरेश कुमार के परिवार के साथ।

सुरेश कुमार की 6 साल की बच्ची को लखनऊ में अचानक तेज बुखार आ गया। ट्रेन में बुखार से तपती बच्ची को उपचार मुहैय्या कराने के लिए जब कोई विकल्प नहीं मिला तो उन्होंने रेल मंत्री को ट्वीट किया। जिस पर स्थानीय स्टेशन में चिकित्सकीय टीम ने बच्ची की चिकित्सकीय जांच के साथ उसे दवाईयां उपलब्ध करायी।

रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक ट्रेन नम्बर 12511 राप्ती सागर एक्सप्रेस के एसी कोच बी 4 में यात्रा कर रहे सुरेश कुमार के हाथ पांव उस समय फूल गये जब लखनऊ पार करते ही उनकी 6 वर्षीय बेटी बबिता को तेज बुखार आ गया , बुखार इतना तेज था कि बेटी का पूरा शरीर अचानक तपने लगा ।

साथी यात्रियों से भी उन्होंने मदद मांगी लेकिन चलती ट्रैन में कोई क्या मदद करता , सब अफ़सोस जता रहे थे। साथ ही उन्हें सिवाय ठंडे पानी की पट्टियां रखने के कोई दूसरा रास्ता नहीं सूझ रहा था। इसी बीच किसी ने ट्विटर पर मदद मांगने की बात कही। सुरेश ने वैसा ही किया। सुरेश के ट्वीट से हरकत में आए रेल मंत्रालय से स्थानीय जंक्शन को एलर्ट जारी किया। कंट्रोल रूम के एलर्ट के बाद स्टेशन का चिकित्सकीय स्टाफ आवश्यक दवाईयों आदि के साथ स्टेशन पर मुस्तैद हो गया।

दोहपर तकरीबन 1 बजकर 4 मिनट पर जैसे ही ट्रेन स्टेशन पहुंची तो स्थानीय चिकित्सकीय स्टाफ के शिवराम और हितेष पाण्डेय आदि ने बी 4 कोच में पहुंच कर बबिता के बुखार की जांच की और उसे आवश्यक दवाईयां दी। बच्ची को दवाईयां मिलने के बाद उसके परिजनों के साथ ही कोच में सफर कर रहे अन्य यात्रियों ने भी राहत की सांस ली।

यूपी की हाईटेक पुलिस को ट्विटर से बदलाव लाने के लिए मिला सोशल मीडिया एम्पावरमेंट अवार्ड
गांव कनेक्शन पर खेती-किसानी से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Share it
Share it
Share it
Top