योगी सरकार में आई अपराधियों की शामत, 670 हुए गिरफ्तार

योगी सरकार में आई अपराधियों की शामत, 670 हुए गिरफ्तारमुख्यमंत्री योगी ने लखनऊ में थाने का किया था निरीक्षण

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में पुलिस का मनोबल काफी ऊंचा हुआ है। महज चार महीने के दौरान ही प्रदेश में पुलिस की मानसिकता बदली है और खूंखार अपराधियों की गोली का जवाब पुलिस भी अब गोली से देने लगी है। इसके नतीजे सामने हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर चलाए गए विशेष अभियान के तहत चार ही महीने के भीतर पुलिस ने अपराधियों की घेराबंदी कर जहां चार खूंखार अपराधियों को मार गिराया हैं तो वहीं आधा दर्जन बदमाश गोली लगने से घायल हुए हैं। इतना ही नहीं पुलिस ने 670 ईनामी अपराधियों को गिरफ्तार भी किया है।

त्रिपाठी ने कहा कि ये वो अपराधी हैं जिन्हें पिछली सरकारों के दौरान सत्ता का संरक्षण मिला हुआ था और इन अपराधियों को भरोसा था कि पुलिस के जवान पिटते रहेंगे, मरते रहेंगे पर अपराधियों का मुकाबला नहीं करेंगे। जवाहरबाग, इलाहाबाद और प्रतापगढ के कुंडा में हुई वारदातें इस बात का सबूत हैं कि किस तरह सपा सरकार में पुलिस का मनोबल टूटा हुआ था और अपराधी आम लोग तो दूर पुलिस अधिकारियों तक को मार रहे थे। अब योगी सरकार में ऐसे अपराधी बख्शे नहीं जा रहे। मोस्ट वांटेंड अपराधियों की सूची तैयार है और अब ऐसे अपराधियों को अंजाम भुगतना पड़ेगा।

ये भी पढ़ें:- उत्तर प्रदेश में बंद होंगे 300 प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज

हाल ही में शामली में हुई साहसिक मुठभेड़ में जिन दो अपराधियों को पुलिस ने मार गिराया उन पर तमाम बेगुनाहों की हत्या और संगीन वारदातों के मामले दर्ज थे। इन बदमाशों के मारे जाने से ना सिर्फ शामली बल्कि कई जिलों और पड़ोसी प्रदेशों में भी लोगों ने राहत की सांस ली है। प्रदेश की जनता भी इस कार्रवाई के लिए यूपी पुलिस की सराहना कर रही है। इसी तरह आजमगढ पुलिस ने भी बदमाशों के साथ हुए एनकाउंटर में एक बदमाश को ढेर कर दिया है। मथुरा में भी अपराधियों के ठिकाने पर छापेमारी के दौरान हुई मुठभेड़ में एक अपराधी मारा गया। मारे गए इन अपराधियों के साथियों और शरणदाताओं के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जा रही है। शामली, मथुरा और आजमगढ पुलिस इस कार्रवाई के लिए बधाई की पात्र है।

ये भी पढ़ें:- टमाटर के बाद अब महंगा होगा प्याज, कीमतें 30 रुपए तक पहुंचीं, महंगाई के ये हैं 2 कारण

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि यूपी पुलिस की जबरदस्त कार्रवाई से बदमाशों में खौफ पनपने लगा है। तमाम ऐसे अपराधी जो पिछली सरकारों के दौरान खुलेआम घूम कर वारदातें कर रहे थे अब खुद ही अदालतों में सरेंडर करने लगे हैं। शामली में कल ही बबलू, नीरज और सुलेमान नाम के तीन आरोपी बदमाशों ने अदालत में सरेंडर कर दिया। तीनों 2015 से वांछित थे और सपा सरकार में पुलिस ने कभी इनकी गिरफ्तारी का प्रयास तक नहीं किया। शामली में हुए कार्रवाई के बाद ये तीनों खुद ही अदालत जा पहुंचे और आत्मसमर्पण कर दिया।

ये भी पढ़ें:- टमाटर मार्केट इंटेलीजेंस परियोजना : 14 साल से हो रही है रिसर्च, क्यों इतनी तेजी से बढ़ते हैं रेट

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top