कॉल सेंटर के जरिए टीबी के इलाज में मिलेगी मदद

Pankaj TripathiPankaj Tripathi   6 Nov 2017 2:53 PM GMT

कॉल सेंटर के जरिए टीबी के इलाज में मिलेगी मददप्रतीकात्मक फोटो 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गाजियाबाद। टीबी के मामले को गंभीरता से लेते हुए केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार ने इसके खिलाफ एक अभियान छेड़ रखा है। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम घर-घर जाकर बलगम की जांच करने के साथ ही कॉल सेंटर की मदद से इस बीमारी को खत्म करने की योजना बना रही है।

यह कॉल सेंटर महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में खोला जा रहा है। इन कॉल सेंटरों की मदद से इस बीमारी के बारें मे लोगों को पूरी जानकारी दी जाएगी। इस पूरे मामले पर सीएमओ एनके गुप्ता बताते हैं, “कॉल सेंटर की मदद से इस बीमारी से जुड़ी सभी जानकारियां टोल फ्री नम्बर पर काल करते ही मिल जाएंगी। साथ ही इस बीमारी से जुड़े सवालों के जवाब भी काल सेंटर की मदद से मिल सकेगी।“

डॉ. गुप्ता बताते हैं, “बहुत से मरीज डाक्टर के पास जाने से डरते हैं, उनके लिए काल सेन्टर की भूमिका महत्वपूर्ण रहने वाली है वो अब अपनी समस्या काल सेंटर पर काल करके बता सकेंगे। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को भी इसके साथ जोड़ा गया है, जो पूरे प्रक्रिया पर नजर रखने का काम करेगी।“

ये भी पढ़ें-ताकि न हो सर्दियों में आपके शरीर में पानी की कमी

बता दें कि 2025 तक देश से टीबी को खत्म करने के उददेश्य के तहत केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सरकारी अस्पतालों के साथ ही निजी अस्पतालों को भी टीबी के सभी मामलों को अधिसुचित करने को कहा गया है। इसकी मदद से इसके संक्रमण पर नजर रखी जा सकेगी। टीबी के मरीजों की बढ़ती संख्या को गंभीरता से लेते हुए स्वास्थ्य विभाग 24 घंटे इसपर काम करने जा रही है।

लगातार खांसी आना प्रमुख लक्षण

टीबी जिसे क्षय रोग के नाम से भी जाना जाता है यह बैक्टीरिया जनित रोग है। समय रहते इसका इलाज न किया गया तो इससे मौत भी हो सकती है। 2014 में पूरी दुनिया में 15 लाख मौतें टीबी के कारण हुई। यह एक संक्रामक बीमारी है जो कि एक मरीज से दूसरे में आसानी से फैलती है। शरीर में कमजोरी थकावट और दर्द रहना लगातार खाँसी आना इसके प्रमुख लक्षण हैं। यदि आपकी खाँसी 2 हफ्तों से चल रही है तब आपको हॉस्पिटल में अपनी बलगम की जांच करवानी चाहिए।

ये भी पढ़ें-जानें स्तन कैंसर से बचाव के तरीके

ये भी पढ़ें-क्या आपको भी आते हैं नींद में डरावने सपने?

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top