वीडियो : राजनीति में कीचड़ उछालना बंद हो: बृजेश पाठक

Manish MishraManish Mishra   18 Sep 2017 9:01 PM GMT

वीडियो : राजनीति में कीचड़ उछालना बंद हो: बृजेश पाठकबृजेश पाठक से गाँव कनेक्शन की विशेष बातचीत।

लखनऊ। हर व्यक्ति को जल्द न्याय पहुंचाने के लिए जो भी मदद अदालतों को हर संभव मदद की जाएगी। रिक्त पदों को भरने के साथ ही नई अदालतों का गठन किया जाएगा।

गाँव कनेक्शन से विशेष बातचीत में विधि एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक ने कहा, "सभी जिलों में स्थायी लोक अदालतें खोली जाएंगी, 1100 पारिवारिक अदालतें, 100 नए फास्ट ट्रैक कोर्ट और 25 एससी व एसटी कोर्ट खोली जाएंगी।"

हरदोई के मल्लावां गाँव में जन्में और छात्र राजनीति से निकल कर प्रदेश की राजनीति में परचम लहराने वाले मंत्री बृजेश पाठक ने बताया, "पहले से तय नहीं था कि मैं राजनीति में आऊंगा। मैं गाँव से निकला हूं, राजनीति में संयोगवश आया," आगे कहते हैं, "मेरा मानना है कि राजनीति में कीचड़ उछालना बंद होना चाहिए।"

ये भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश की पिछली सरकारों की नाकामियों पर योगी सरकार का श्वेतपत्र

अपने राजनीतिक सफर के दौरान बृजेश पाठक वर्ष 2007 में बनी बसपा सरकार में प्रमुख ब्राह्मण चेहरा थे, और बसपा की सोशल इंजीनियिरिंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इसके बाद बसपा से किनारा करके भाजपा के साथ आ गए।

"बसपा का गठन जिन नैतिक मूल्यों के साथ हुआ था, उससे पार्टी भटक गई है। मान्यवर कांशीराम जी ने बाबा साहेब के सिद्धांतों को आगे बढ़ाने के लिए पार्टी का गठन किया था। लेकिन जो उनकी पार्टी के नेता और प्रणेता हैं उन्होंने बाबा साहब को भूल करके दूसरी व्यवस्था में मन लगाया," बृजेश पाठक ने कहा, "उन्हें बस एक वस्तु की आवश्यकता थी। जो लोग नहीं दे पा रहे थे वो पार्टी से किनारे हो गए। इसलिए धीरे-धीरे सभी ने अपनी राह चुन ली। आज मैं बीजेपी में सुकून में हूं।"

ये भी पढ़ें : मोदी ने स्वच्छ भारत को बढ़ावा देने के लिये विभिन्न क्षेत्रों की हस्तियों को लिखा खत

विधि एवं न्याय मंत्री के साथ-साथ बृजेश पाठक के पास गैर पारंपरिक ऊर्जा विभाग भी है। गाँवों के अंधियारे को मिटाने के लिए सौर ऊर्जा के अधिक से अधिक प्रयोग पर जोर देते हुए उन्होंने कहा, गाँवों में सबसे अधिक समस्या एक बार सोलर लाइट खराब होने पर उसे सही कराने की है। इसके लिए गाँवों में सौर मित्र बनाए जा रहे हैं।" आगे कहा, ये सौर मित्र 45 दिन की ट्रेनिंग के बाद अपना सिस्टम शुरु कर सकते हैं। साथ ही नेडा के टोल फ्री नंबर पर सूचना देने से मदद पहुंचेगी।"

देश की अदालतों में बढ़ते मामलों पर बृजेश पाठक ने कहा, "अदालतों में 99 प्रतिशत लोग अपनों से दुखी होकर आते हैं, किसी अंजान व्यक्ति से अदालती लड़ाई नहीं होती है।" केन्द्र और राज्य सरकार की कार्यशैली की तारीफ करते हुए विधि मंत्री कहते हैं,

"मोदी सरकार के बाद भ्रष्टाचार की गुंजाइश नहीं बची है। मादी सरकार के बाद देश और प्रदेश में होटलों में दलाल नहीं मिलते, जो पहले काम कराने के लिए घूमा करते थे।"

ये भी पढ़ें : देश में सुरक्षा का हाल : 1 VIP की सुरक्षा में 3 और 663 आम लोगों पर 1 पुलिसकर्मी तैनात

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top