आज तक गाँव में नहीं पहुंच सकी बिजली

Ishtyak KhanIshtyak Khan   3 July 2017 4:37 PM GMT

आज तक गाँव में नहीं पहुंच सकी बिजलीगाँव में बिजली आपूर्ति के लिए प्रदर्शन करते ग्रामीण

दिबियापुर/औरैया। जिले के चार गाँव ऐसे हैं जहां आजादी से लेकर आज तक विद्युत बल्ब नहीं जल सका है।जहां देश डिजिटल इंडिया में परिवर्तित हो रहा है वहीं गाँव में बिजली ही नहीं है तो डिजिटल बनेगा कैसे।विद्युतीकरण कराने के लिए गाँव के लोगों ने नेताओं से लेकर अधिकारियों तक शिकायत की लेकिन अभी तकविद्युतीकरण नहीं हो सका है।

जिला मुख्यालय से 16 किलोमीटर की दूरी पर बसे गांव नंदपुर के अलावा एक और दो-दो किलोमीटर की दूरी परबसे गांव निम्नजना, बला की मडैया, दुर्गा का अडडा आज भी विद्युतीकरण से अछूता है।

ये भी पढ़ें - तो फिर 200 रुपए किलो अरहर दाल खाएंगे हम ?

गाँव में विद्युतीकरण न होने से गांव के लोग काफी परेशान हैं। मोबाइल, बैट्री को चार्ज करने के लिए ग्रामीणोंको दूसरे गाँव में जाना पडता है। ऐसा नहीं है कि अधिकारियों और जिले के नेताओं को मालूम नहीं है। सब कुछजानते हुए भी प्रयास नहीं किया गया। आज के लोग विद्युत बल्ब जलता हुआ देखने के लिए योगी सरकार सेआस कर रहे है। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से विद्युतीकरण कराए जाने की मांग की है।

नंदपुर गांव निवासी छक्की लाल (48वर्ष) का कहना है “लड़कों की शादी में में मिला पंखा, कूलर, फ्रिज बिजली नहोने की वजह से सब बंद रखे हुए हैं।”

लाइट न होने से शादी बारातों में हो रही परेशानी --

नंदपुर, निम्नजना, दुर्गा का अडडा और बला की मडैया के लोगों का कहना है कि अगर कोई शादी वाला भीआता है इन गांवो में बिजली न होने की वजह से लौट जाता है। बिजली न होने से बड़ी मुश्किल में शादियां हो पारही है। लोगों को काफी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है।

दुर्गा का अडडा के प्रधान राजेंद्र राजपूत और नंदपुर की प्रधान प्रेमिना से जब गांव के लोग विद्युतीकरण की बातकहते हैं, “हम इसमें क्या कर सकते है विद्युतीकरण कराना उनके बस की बात नहीं है गाँव के लोग डीएम सेशिकायत करें तो भले ही विद्युतीकरण हो।’’

गांवों में विद्युतीकरण नहीं हुआ है इसकी जानकारी नहीं है। अगर ऐसे गांव है जहां विद्युतीकरण नहीं हुआ है।तो वहां एक्सियन को भेजकर स्टीमेट बनवाया जाएगा और गांव में विद्युतीकरण कराया जाएगा। जय प्रकाश सगर, जिलाधिकारी, औरैया

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top