Ashwani Dwivedi

Ashwani Dwivedi

Swayam Desk रिपोर्टर और डिस्ट्रिक कॉर्डिनेटर स्वयं प्रोजेक्ट, जिला लखनऊ उत्तर प्रदेश


  • जब फ्रिज नहीं हुआ करते थे, लोग घड़ों में रखा पानी पीते थे ...

    लखनऊ। जब फ्रीज नहीं हुआ करते थे, लोग घड़ों में रखा पानी पीते थे, ये न सिर्फ ठंडा होता था बल्कि इसका स्वाद भी कई गुना बेहतर होता था। लेकिन जैसे-जैसे मशीनरी हमारे घरों में आने लगी देसी फ्रीज कहे जाने वाले मटके, घड़े सुराही गायब हो गए। हमारी आप की उम्र के लोगों ने बचत का पहला तरीका भी मिट्टी की गुल्लक...

  • फूलों और औषधीय खेती से बढ़ सकती है किसानों की आय : एस के बारीक

    लखनऊ। 'वैज्ञानिक देश के अलग-अलग राज्यों में सुदूर जंगलो में जाकर मानव जीवन के लिए उपयोगी वनस्पतियों और औषधियों की खोज कर रहे है। साथ ही उनकी लिस्टिंग भी की जा रही हैं और उनके जींस को लखनऊ के बंथरा स्थित फार्म में संरक्षित करने का काम किया जा रहा है ताकि वनस्पतियों की ये प्रजातिया विलुप्त न हो और...

  • ग्रामीण क्षेत्रों में कुटीर उद्योग शुरू करने पर सरकार दे रही है पचास प्रतिशत अनुदान

    लखनऊ। आज देश में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का सेब बिक रहा है। कृषि उत्पाद की गुणवत्ता अगर अच्छी और प्रमाणिक है तो देश के किसान भी अपने कृषि उत्पाद विश्व के किसी भी देश में बेच सकते हैं। डिजिटल युग में आसानी से आज वैश्विक बाज़ार उपलब्ध है, गुड ऍग्रीकल्चर प्रैक्टिस अपनाकर देश के किसान इसका फायदा...

  • "यहां इंजीनियर का वेतन सरकारी चपरासी से भी कम है"

    लखनऊ। 'देश में लोकसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है। कांग्रेस अपना चुनावी मेनिफिस्टों ला चुकी है और अभी भाजपा का आना बाकी है। देश भर में एक करोड़ से अधिक संविदाकर्मियों की देश के दोनों बड़े राजनीतिक दलों से काफी अपेक्षाए हैं और ये अपेक्षाएं स्वयं इन दलों ने बढाई है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव...

Share it
Top