किसानों की मदद से भागती है भाजपा सरकार, लोकसभा में मिलेगी हार- अखिलेश यादव

किसानों की मदद से भागती है भाजपा सरकार, लोकसभा में मिलेगी हार- अखिलेश यादवसमाजवादी पार्टी मुख्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे मंत्रीगण।

लखनऊ। “भाजपा सरकार किसानों की मदद से भागती है। किसानों और नौजवानों द्वारा हताशा, कर्ज और बेरोजगारी के कारण आत्महत्या किए जाने के प्रति भाजपा सरकार की संवेदनहीनता लोकतंत्र के लिए बेहद दु:खद है।“ यह विचार उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पार्टी मुख्यालय में सैकड़ों पार्टी समर्थकों के सामने रखे।

उन्होंने कहा, “भाजपा सरकार में किसानों की आत्महत्या में 40 गुना वृद्धि हुई है। एक ही जनपद में सन् 2018 में ही 27 किसानों ने महोबा जनपद में कर्ज के कारण आत्महत्या की है। 26 हजार पांच सौ बेरोजगार नौजवान 2014-2016 के बीच फांसी के फंदे पर झूल चुके हैं। हमीरपुर में शिक्षा मित्र ने आत्महत्या कर ली। किसानों की कर्ज माफी का ढिंढोरा पीटने वाली भाजपा सरकार इसके लिए जवाब देह है। नौजवानों को रोटी-रोजगार मिलने के बजाय उनकी नौकरियों से बड़ी संख्या में छंटनी की जा रही है।“

मंगलवार को उनसे भेंट करने वालों में कर्नाटक, उत्तराखण्ड, रांची और पीलीभीत के तमाम लोग रहे। सिख और संपेरा समाज के लोग भी उन्हें बधाई देने आए थे। इस अवसर पर पूर्वमंत्री बलराम यादव, राजेंद्र चैधरी, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल और विधायकगण एसआरएस यादव एवं अरविन्द कुमार सिंह भी मौजूद थे।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “किसानों की कोई जाति नहीं होती है, वह सिर्फ किसान है। किसानों की मदद करने के बजाय उनकी मृत्यु के दूसरे कारण बता दिए जाते हैं। भाजपा सरकार ने गांवों की बुरी हालत बना दी है।“

आगे कहा, “समाजवादी सरकार में किसानों की मृत्यु पर 5 लाख रूपए और आत्महत्या पर 10 से 15 लाख रूपए तक की मदद दी गई थी। भाजपा सरकार किसानों की मदद से भागती है। नौजवानों को नौकरियां नहीं मिल रही हैं।“

यह भी पढ़ें: गोरखपुर से सीख मिली : राजनाथ

अखिलेश यादव, पूर्व सीएम, यूपी

अखिलेश यादव ने कहा, “समाजवादी सरकार ने जनहित में जो व्यवस्थाएं की थी भाजपा ने उनहें बर्बाद कर दिया है। अमेरिका के न्यूयार्क में 100 नं0 की पुलिस व्यवस्था समाजवादी सरकार ने यूपी 100 शुरू की थी। दुनिया में इससे बेहतर व्यवस्था नहीं है। समाजवादी सरकार फिर बनने पर ऐसी व्यवस्था होगी कि हर 8 किलोमीटर पर पुलिस की गाड़ी खड़ी मिलेगी। जनता को तब थाने जाने की जरूरत नहीं होगी। 100 नं0 डायल करने पर ही उसकी रिपोर्ट दर्ज हो जाएगी और दुर्घटना स्थल पर तत्काल पुलिस पहुंचेगी।“

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “भाजपा सरकार के लिए यह शर्म की बात है कि बहन अपने भाई को ढेला पर ले जाने को मजबूर दिखे। अस्पताल में मरीज को समय से सही और सस्ता इलाज न मिले। समाजवादी सरकार की स्वास्थ्य सूचना सेवा को भाजपा ने बर्बाद कर दिया। अगली समाजवादी सरकार बनने पर पशु चिकित्सक प्शुपालक के यहां खुद जाएगा।“

अखिलेश यादव ने विश्वास जताया कि सन् 2019 में जब चुनाव होंगे तो लोकसभा की सभी 80 सीटों पर भाजपा को हार मिलेगी। जनता के सामने भाजपा का पन्ना प्रभारी टिक नहीं सकते। भाजपा की गलत नीतियों से जनता में बहुत आक्रोश है। इस आक्रोश की वजह से गोरखपुर और फूलपुर के उपचुनावों में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की जीतने की लाख कोशिशें भी बेकार साबित हुई।

यह भी पढ़ें: युवाओं को रोजगार और किसानों को सही दाम कब मिलेगा : राहुल गांधी

क्या किसान आक्रोश की गूंज 2019 लोकसभा चुनाव में सुनाई देगी ?

Tags:    Politics 
Share it
Share it
Share it
Top