Nidhi Jamwal

Nidhi Jamwal

निधि जम्वाल स्वतंत्र पत्रकार हैं और पर्यावरण व विकास के मुद्दों पर लेख लिखती हैं। ये उनके निजी विचार हैं।


  • 'सिर्फ 12 हजार करोड़ नहीं फोनी तूफान से एक लाख करोड़ रूपए का नुकसान'

    - निधि जम्वाल / दया सागरपुरी (ओडिशा)। ओडिशा में आए फोनी तूफान से लगभग एक लाख करोड़ रूपए का नुकसान हुआ है। गांव कनेक्शन से खास बातचीत में ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त विष्णुपद सेठी ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि इस तूफान से सरकारी और निजी संपत्तियों के अलावा कृषि एवं पशुपालन उद्योग, मछली उद्योग, वन...

  • इन मज़दूरों को आठ घंटे में दो बार पानी मिलना भी है मुश्किल

    झारखण्ड। गिरिडीह जिले के तिसरो गांव में रहने वाले आदिवासियों की ज़िन्दगी माइका की खदानों पर निर्भर करती है। वे माइका चुनने के लिए खदानों में खुदाई करते हुए अंधेरी गुफाओं में जाने को मजबूर हैं। नीचे न तो रौशनी है, न ही पानी या भोजन की व्यवस्था। यहां तक कि हर बार पानी पीने के लिए भी उन्हें खदान से...

  • दयामणि बारला: 'लोकसभा चुनाव आदिवासियों के लिए लक्ष्मण रेखा हैं'

    झारखण्ड। झारखण्ड राज्य की आयरन लेडी कहलाने वालीं दयामणि बारला गाँव कनेक्शन से बात करते हुए कहती हैं कि सर्वोच्च न्यायालय का आदेश झारखण्ड के आदिवासियों के लिए जनसंहार जैसा है। दयामणि सर्वोच्च न्यायालय के उस आदेश के बारे में बात कर रही हैं जिसमें कहा गया कि पच्चीस लाख आदिवासियों को जंगल से बाहर...

  • पिछले चार-पांच साल में आगे नहीं और पीछे चला गया झारखंड- हेमंत सोरेन

    झारखण्ड। लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र झारखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन गाँव कनेक्शन से बातचीत में बताते हैं, साल 2000 में नया प्रदेश बनने के बाद ऐसा नहीं कहा जा सकता कि ये आगे नहीं बढ़ा। यहां सरकारे बनीं, बिगड़ीं, एक समय पर तेज़ी से बदलाव का एक संकेत भी आता दिख रहा था। साल 2014 तक चाहे...

Share it
Top