Read latest updates about "Jharkhand" - Page 1

  • 'खेतों की सिंचाई तो दूर की बात है, यही गंदा पानी पीना पड़ता है'

    मो. असगर खानकोडरमा (झारखंड)। 'यही गंदा पानी पीना पड़ता है हमें, खनन की वजह से अभ्रक के कण मिले रहते हैं इस पानी में, मगर क्या करें, मजबूर हैं, हमारा गाँव आज सूखे की चपेट में है, पीने का साफ पानी तक नसीब नहीं है हमें, खेतों की सिंचाई तो दूर की बात है,' कोडरमा जिले के अरैया गाँव में घर के बाहर खाट पर...

  • लोगों के मरने से कुछ नहीं रुकता, सब चलता रहता है

    ये भारत है, यहां पुल गिरते हैं आम लोग मरते हैं। इन लोगों के मरने से कुछ नहीं रुकता, सब चलता रहता है। 14 मार्च को छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे स्टेशन का एक ओवरब्रिज टूटा। ज़्यादा लोग भी नहीं मरे, केवल 6 लोग और 40 लोग बुरी तरह ज़ख़्मी हुए हैं। ग़ौर करने वाली बात है उनमें से कोई भी ऐसे पद पर...

  • बस्तर में आज भी जिंदा है कई सौ वर्ष पुरानी ढोकरा शिल्प कला

    कोंडागाँव (छत्तीसगढ़)। अगर आपने इतिहास में मोहनजोदड़ो के बारे में पढ़ा होगा तो आपको शायद वहां पर खुदाई में मिली डांसिंग गर्ल की कांस्य प्रतिमा भी याद होगी। कहा जाता है कि वो प्रतिमा ढोकरा शिल्प की थी। बस्तर में आज भी उस कला को जिंदा रखने की कोशिशें जारी हैं। भारत के अलावा विदेशों में भी इस कला की...

  • ग्रामीण भारत की महिलाओं का ये हुनर देख आप भी तारीफ करेंगे

    लक्ष्मी देवी, कम्यूनिटी जर्नलिस्टसिल्ली (झारखंड)/दिल्ली। छत्तीसगढ़ की ढोकरा आर्ट, पश्चिम बंगाल और बिहार की बांस की कलाकारी, उत्तर प्रदेश का पीतल और कालीन, तमिलनाडु की लकड़ी की कलाकारी जिसने देखी वो बस देखता रह गया। भारत के साढ़े छह लाख गांव, अपनी संस्कृति और विरासत के साथ लेकर जैसे एक जगह एकठ्ठा हो...

Share it
Top