मोटर की जली हुई वायरिंग में छिपा है एक पेड़

गुरप्रीत सिंह पेशे से इंजीनियर हैं और उनका शौक है बेकार लगने वाली चीजों को खूबसूरत और उपयोगी चीजों में बदलना। उनके कॉलम 'कबाड़ से कलाकारी' में इस बार हम भी उनके साथ सीखेंगे तांबे के तारों से अनोखा पेड़ बनाना।

मोटर की जली हुई वायरिंग में छिपा है एक पेड़

क्या कभी आपने सोचा है कि पंखे की जली हुई मोटर की तारों में कहीं एक पेड़ छिपा है? लेकिन गुरप्रीत सिंह की पारखी नजर ने वह खूबसूरत पेड़ न केवल देख लिया बल्कि वह उसे हम सभी को बनाना सिखा भी रहे हैं। विडियो के आखिर में गुरप्रीत ने संदेश भी दिया है कि बेहतर हो हम असली पेड़ लगाने की कोशिश करें। इस मूल्यवान संदेश के साथ देखिए 'कबाड़ से कलाकारी' की अगली कड़ी:


तांबे के तारों से पेड़ बनाने के लिए ये चीजें बटोर लीजिए:

करीब 17-18 इंच लंबा तांबे का तार, लाइनिंग वाले ग्लब्स या दस्ताने, कटर या प्लायर, 2x2 की पीओपी टाइल, पत्थर, चिपकाने के लिए गोंद या एरलडाइट। तांबे का तार और पीओपी टाइल हार्डवेयर की दुकान से खरीद सकते हैं।

तारों से उंगली की मोटाई का बंडल बनाएं। इन्हें एक ही तरफ घुमाकर लपेटें।


शाखाएं बनाने के लिए एक तरफ से तने को खोलें।


जड़ें बनाने के लिए तने की विपरीत दिशा में तारों को घुमाएं।

इसे पीओपी की टाइल पर भी लगा सकते हैं।

या गोंद की मदद से ऐसे पत्थर पर भी चिपका सकते हैं जिसका तल सपाट हो।

चाहें तो इसे आप अपनी दीवार पर भी सजा सकते हैं

या फिर पत्थर पर फिक्स करके किसी मेज पर भी रख सकते हैं। है न खूबसूरत तांबे का पेड़।

यह भी देखें: कॉफी की शीशियों संग कैंडल लाइट डिनर करना पसंद करेंगे आप
यह भी देखें: झाड़ू के कैनवस पर नाचेगी बैले डांसर
यह भी देखें: ग्राइंडर, ड्रिलर, कटर हैं इनके खिलौने, करते हैँ कबाड़ से कलाकारी


Share it
Top