Tag Results: Bundelkhand
 ‘अगर एक दिन लकड़ी न बिके तो पति और  बच्चे भूखे रह जाएंगे’ 
देश

‘अगर एक दिन लकड़ी न बिके तो पति और बच्चे भूखे रह जाएंगे’ 

सुबह चार बजे तड़के जगना झुण्ड बनाकर जंगल की तरफ लकड़ी बीनने निकलना करीब 45 लाख से अधिक बुन्देली महिलाओं की हर दिन की यही दिनचर्या है। बीहड़ और पहाड़ी क्षेत्र में रहने वाले आसपास के लाखों लोगों की रोजी रोटी इन्हीं जंगलों से चलती है।

बुंदेलखंड के बांदा में 193 किसानों को मिला ओलावृष्टि का मुआवजा  
उत्तर प्रदेश

बुंदेलखंड के बांदा में 193 किसानों को मिला ओलावृष्टि का मुआवजा  

उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुंदेलखंड के बांदा जिले में ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान का मुआवजा जिलाधिकारी ने शुक्रवार को सदर तहसील के चमरहा गांव में बांटा। पहले दिन 193 किसानों के बीच 15, लाख 22 हजार रुपए ई-पेमेंट के जरिए दिए गए।

 दुल्हन का ससुराल जाने से इनकार, जब वजह बताई तो सभी खुशी से झूमे 
नारी डायरी

दुल्हन का ससुराल जाने से इनकार, जब वजह बताई तो सभी खुशी से झूमे 

उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षाओं के तीसरे दिन तक करीब सवा छह लाख छात्र परीक्षाएं छोड़ चुके हैं वहीं एक लड़की ने अपनी शादी की रस्में पूरी होने के बाद ससुराल जाने से साफ-साफ इनकार कर दिया। घराती व बराती दोनों ही चौंक गए आखिर ये क्या हुआ।

बुंदेलखंड के ज्यादातर गांव बुजुर्गों और बच्चों के हवाले!
संवाद

बुंदेलखंड के ज्यादातर गांव बुजुर्गों और बच्चों के हवाले!

यह नजारा वहां तक होता है जहां तक आपकी नजर देख सकती है। हां, कहीं कहीं जरूर खेतों में हरियाली है। ये वे किसान हैं, जिन्होंने अपने खेत में ट्यूबवेल लगा रखे हैं और थोड़ा पानी मिल गया है।

कर्ज़ के चक्रव्यूह में बुंदेलखंड
देश

कर्ज़ के चक्रव्यूह में बुंदेलखंड

बुंदेलखंड की लोक कहावत बताती है कि कैसे कर्ज़ यहां के लोगों के जीवन का हिस्सा है। सूखे ने फसलें बर्बाद की, तो बैंकों के बाहर घूम रहे दलालों ने उन्हें कर्ज़ के चंगुल में फंसा दिया।

बुंदेलखंड : कभी यहां पहाड़ियां दिखती थीं, अब पहाड़ियों से भी गहरे गड्ढे  
देश

बुंदेलखंड : कभी यहां पहाड़ियां दिखती थीं, अब पहाड़ियों से भी गहरे गड्ढे  

पुल से झांकने पर ही केन नदी में पानी दिखता है। कुछ बच्चे पानी में खेलते मिल जाएंगे जो शायद सिर्फ बुंदेलखंड में मिलने वाला कीमती पत्थर शजर तलाश रहे हैं।

खजुराहो में राष्ट्रीय जल सम्मेलन में आज जुटेंगे देशभर के पर्यावरण प्रेमी और जल संरक्षण हितैषी 
देश

खजुराहो में राष्ट्रीय जल सम्मेलन में आज जुटेंगे देशभर के पर्यावरण प्रेमी और जल संरक्षण हितैषी 

मध्य प्रदेश की पर्यटन नगरी खजुराहो में आज से दो दिवसीय राष्ट्रीय जल सम्मेलन शुरू हो रहा है। इस सम्मेलन का उद्घाटन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे।

योगी ने हमीरपुर में 18896.61 लाख रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास किया
उत्तर प्रदेश

योगी ने हमीरपुर में 18896.61 लाख रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हमीरपुर जिले के कुछेछा स्थित राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्रांगण में आयोजित एक समारोह में 18896.61 लाख रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

बुंदेलखंड के गरीबों की सूनी दिवाली को पुलिसवालों ने बनाया खुशनुमा
देश

बुंदेलखंड के गरीबों की सूनी दिवाली को पुलिसवालों ने बनाया खुशनुमा

बुंदेलखंड वैसे दो राज्यों मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में फैला हुआ है, मगर सहयोग की भावना हर तरफ है। दीपावली का पर्व आया तो लगभग हर तरफ उन गरीब और कमजोर वर्ग के तबके की लोगों की याद आई जो शायद ही दीपावली पर अपने घरों में दीपक जला पाते।

पढ़िए सिंचाई के आज और कल के तरीके ...  ढेकुली से लेकर रेनगन तक
खेती किसानी

पढ़िए सिंचाई के आज और कल के तरीके ... ढेकुली से लेकर रेनगन तक

पुराने समय से लेकर आधुनिक समय तक समय के साथ-साथ फसलों की सिंचाई करने के तरीके में काफी बदलाव हुए हैं। पुराने समय में जहां संसाधनों की गैर मौजूदगी के चलते किसानों के लिए फसलों की सिंचाई करना काफी मुश्किल भरा काम हुआ करता था और बेंड़ी, रहट और ढेकुलि से सिंचाई हुआ करती थी तो वहीं आज के समय में सिंचाई व्यवस्था काफी आसान हो गई है और किसान सोलर पंप, ट्यूबवेल आदि से सिंचाई कर रहे हैं।

यूपी:  झांसी पुलिस की बदमाश से मुठभेड़, बदमाश को लगी गोली, सिपाही समेत एसओ भी घायल
उत्तर प्रदेश

यूपी: झांसी पुलिस की बदमाश से मुठभेड़, बदमाश को लगी गोली, सिपाही समेत एसओ भी घायल

उत्तर प्रदेश में अपराध रोकने के लिए पुलिस का अभियान जारी है। बुंदेलखंड के झांसी में एक ईनामी बदमाश को पकड़ने गई पुलिस टीम से मुठभेड़ हो गई।

मजबूरी में शुरु किया था डेयरी का काम, आज हैं जिले के सबसे बड़े दूध उत्पादक
बदलता इंडिया

मजबूरी में शुरु किया था डेयरी का काम, आज हैं जिले के सबसे बड़े दूध उत्पादक

बुंदेलखंड के चित्रकूट जिले के गाँवों से युवा पलायन कर रहे हैं, वहीं पर ऐसे भी कई युवा हैं जो दूसरे ग्रामीणों के लिए भी प्रेरणा बन रहे हैं।

चप्पल प्रथा का नाम सुना है ? एक और कुप्रथा, जिससे महिलाएं आजाद होने लगी हैं...
नारी डायरी

चप्पल प्रथा का नाम सुना है ? एक और कुप्रथा, जिससे महिलाएं आजाद होने लगी हैं...

पुरुषों या ऊंची जाति के सामने चप्पल पहनकर किसी महिला का जाना इज्जत और मर्यादा का विषय माना जाता है। 

मानसून ने दिया धोखा, यूपी में  अभी तक कम हुई 25 फीसदी बारिश, कई जिलों में पड़ सकता है सूखा
खेती किसानी

मानसून ने दिया धोखा, यूपी में अभी तक कम हुई 25 फीसदी बारिश, कई जिलों में पड़ सकता है सूखा

उत्तर प्रदेश में इस बार मानसून के सामान्य रहने की उम्मीद थी लेकिन अभी तक बरसात के जो आंकड़े मिल हैं वह निराशाजनक हैं। प्रदेश के सभी हिस्सों में कम बरसात हुई है।

 ‘ पढ़े लिखे लड़के से नौकरी कराते हो और पढ़ाई में कमजोर बच्चे को किसान बनाते हो ? ’
देश

‘ पढ़े लिखे लड़के से नौकरी कराते हो और पढ़ाई में कमजोर बच्चे को किसान बनाते हो ? ’

कौन कहता है बुंदेलखंड में पानी की समस्या है, यहां औसतन 400 मिलीमीटर पानी बरसता है जबकि खेती के लिए जरूरत 150 मिमीलीटर की सालाना होती है

30 साल तक लिव-इन में रहने के बाद 80 साल के बुजुर्ग ने की 75 साल की महिला से शादी
उत्तर प्रदेश

30 साल तक लिव-इन में रहने के बाद 80 साल के बुजुर्ग ने की 75 साल की महिला से शादी

दोनों में नजदीकियां बढ़ीं और उन्होंने शादी की ठानी तो गांव के लोगों ने विरोध किया, उसके बाद दोनों ने शादी तो नहीं की लेकिन साथ में रहने लगे।

दिनभर लाइन में लगने के बाद महिलाओं को मिल पाता है पानी 
स्वयं प्रोजेक्ट

दिनभर लाइन में लगने के बाद महिलाओं को मिल पाता है पानी 

चित्रकूट जिला मुख्यालय से 75 किमी. दूर मऊ ब्लॉक से पश्चिम दिशा में पतेरी गाँव है। इस गाँव में लगभग 100 घर हैं। पूरे गाँव में सिर्फ दो नल लगे हैं, जिसमें एक से ही पानी निकल रहा है।

बुंदेलखंड में बड़े किसान आंदोलन की सुगबुगाहट, सैकड़ों महिला किसान पहुंचीं कलेक्ट्रेट
देश

बुंदेलखंड में बड़े किसान आंदोलन की सुगबुगाहट, सैकड़ों महिला किसान पहुंचीं कलेक्ट्रेट

झांसी में सैकड़ों की संख्या में सिर्फ महिला किसान पहुंचीं। खेती बाड़ी से जुड़ीं दर्जनों गांवों की सैकड़ों महिलाओं ने कलेक्ट्रेट पहुंच विरोध दर्ज कराया।