खनन कारोबारी के बेटे का अपहरण करने आये बदमाशों से मुठभेड़, पुलिस ने छह दबोचे

खनन कारोबारी के बेटे का अपहरण करने आये बदमाशों से मुठभेड़, पुलिस ने छह दबोचेपकड़े गए बदमाश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रविवार देर रात गाजीपुर थाना क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में बदमाश खनन कारोबारी विजय गुप्ता के बेटे अंकित का अपहरण करने आए छह बदमाशों को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान दबोच लिया। जबकि एक बदमाश मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से घायल हो गया, जिसे इलाज के लिए पुलिस ने हॉस्पिटल में भर्ती कराया है। पुलिस की माने तो, पकड़े गए बदमाश कई महीने से कारोबारी की अपहरण की योजना बना रहे थे।

रविवार रात करीब 11:30 बजे सभी बदमाश इलाहाबाद से लखनऊ कारोबारी के घर के पास पहुँचे थे, जिसकी सूचना पुलिस को मुखबिर द्वारा पहले ही मिल चुकी थी। पुलिस ने बदमाशों का पीछा करना शुरू किया तो सभी बदमाश रिंग रोड की तरफ से भागने लगे। तभी बीच रास्ते खुर्रमनगर में बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। जवाबी फायरिंग में एक बदमाश के पैर में गोली लग गई। इस दौरान पुलिस ने सभी को मौके से दबोच लिया।

ये भी पढ़े- ऑपरेशन निर्भीक योजना से बच्चों तक पहुंच रही पुलिस

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि, इंदिरानगर के मुंशी पुलिया निवासी खनन कारोबारी अंकित गुप्ता के बेटे का अपरहण करने की योजना बदमाशों ने कई महीने पहले बनाई थी। इसकी सूचना पहले से मिलने के बाद पुलिस सतर्क हो गई थी। इस बीच अपहरण की योजना बनाने वाले एक बदमाश का मोबाइल नंबर पुलिस को मिल गया था, जिसे लगातार सर्विलांस के द्वारा ट्रेस किया जा रहा था। रात करीब 11 बजे बदमाशों के मुंशीपुलिया में होने की जानकारी होने पर जिले भर की पुलिस को अलर्ट किया गया। इंस्पेक्टर गाजीपुर गिरजा शंकर त्रिपाठी, इंस्पेक्टर महानगर विकास पाण्डेय और एसओ पारा अजय त्रिपाठी की टीम मौके पर पहुंची। पुलिस टीम ने बदमाशों को पीछा किया तो वह सेक्टर-25 रिंग रोड होकर भागने लगे। तभी खुर्रमनगर चौराहे से कुकरैल की तरफ मुड़ते ही उनकी कार मिट्टी में फंस गई।

ये भी पढ़ें:- ट्रैफिक पुलिस की नौकरी : ना तो खाने का ठिकाना, ना सोने का वक्त

एक के पैर में लगी गोली

पुलिस ने घेराबंदी की तो बदमाशों ने जवाबी फायरिंग शुरु कर दी। इसपर पुलिस टीम की ओर भी गोली चलाई गई। इसमें बदमाश गुड्डा के पैर में गोली लगी जिसके बाद उसके बाकी साथी सनी सोनकर, राजीव श्रीवास्तव, विनोद शर्मा, रवि और विनोद को दबोच लिया गया। घायल गुड्डा को इलाज के लिए लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये भी पढ़ें:-देश में बढ़ रहा है यूपी पुलिस का रुतबा, अब मिले ये शानदार सम्मान

एक रिवाल्वर, पांच तमंचे, दो बाइक और एक कार बरामद

आईजी जय नारायण सिंह के मुताबिक, आरोपित विनोद रावत कारोबारी अंकित के साथ काम करता था। उसकी मुखबिरी पर ही बदमाशों ने अपहरण के बाद रकम वसूलने की योजना बनाई थी। पकड़े गए सभी आरोपित बमबारी, हत्या और लूट जैसे कई बड़े मामलों में पहले से विभिन्न थानों से वांछित हैं। पुलिस को बदमाशों के पास से एक रिवाल्वर, पांच तमंचे, इंडिका कार और दो बाइक बरामद हुई है। पुलिस का कहना है कि, बदमाशों से पूछताछ जारी है।

ये भी पढ़ें : यूपी पुलिस का सिंघम अवतार , 6 महीने में 420 मुठभेड़, 15 इनामी ढेर, 868 कुख्यात कैद

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top