ज़िंदगी की कहानी बयां कर रहे हैं ये 10 मशहूर शेर 

ज़िंदगी की कहानी बयां कर रहे हैं ये 10 मशहूर शेर मशहूर शेर

मशहूर शायरों ने शायरी के ज़रिए अपने अनुभवों से इस तरह से ज़िंदगी के मायनों को बयां किया है कि आपको लगेगा कि शायद ये आपकी ही ज़िंदगी की कहानी है। पढ़िए ये चुनिंदा शेर...

1. इक मुअम्मा है समझने का न समझाने का

ज़िंदगी काहे को है ख़्वाब है दीवाने का

फनी बदायूंनी

2. मुख़्तसर ये है हमारी दास्तान-ए-ज़िंदगी

इक सुकून-ए-दिल की ख़ातिर उम्र भर तड़पा किए

मुईन अहसन जज़्बी

ये भी पढ़ें- मिर्ज़ा ग़ालिब के दस सबसे बेहतरीन शेर

3. तंग आ चुके हैं कशमकश-ए-ज़िंदगी से हम

ठुकरा न दें जहाँ को कहीं बे-दिली से हम

साहिर लुधियानवी

4. ज़िंदगी इक आँसुओं का जाम था

पी गए कुछ और कुछ छलका गए

शाहिद कबीर

ये भी पढ़ें- जब शायरी तवायफ़ के कोठे से उतर रही थी, वो मां पर ग़ज़ल कह रहा था, सालगिरह मुबारक

5. ज़िंदगी शायद इसी का नाम है

दूरियाँ मज़बूरियाँ तन्हाइयाँ

कैफ़ भोपाली

6. ज़िंदगी तू ने मुझे क़ब्र से कम दी है ज़मीं

पाँव फैलाऊँ तो दीवार में सर लगता है

बशीर बद्र

ये भी पढ़ें- शायर मखदूम मोहिउद्दीन के जन्मदिन पर पढ़िए उनकी पांच नज़्म

7. ज़िंदगी ज़िंदा-दिली का है नाम

मुर्दा-दिल ख़ाक जिया करते हैं

इमाम बख़्श नासिख़

8. अहल-ए-दिल के वास्ते पैग़ाम हो कर रह गई

ज़िंदगी मजबूरियों का नाम हो कर रह गई

गणेश बिहारी तर्ज़

ये भी पढ़ें- जन्मदिन विशेष राहत इंदौरी: वो शायर जो जिंदगी के हर लम्हों को अपनी शायरियों में जीता है 

9. एक सीता की रिफ़ाक़त है तो सब कुछ पास है

ज़िंदगी कहते हैं जिस को राम का बन-बास है

हफ़ीज़ बनारसी

10. कोई ख़ामोश ज़ख़्म लगती है

ज़िंदगी एक नज़्म लगती है

गुलज़ार

ये भी पढ़ें- एक शायर का सुसाइड नोट, जिसने ज़िंदगी से बोर होकर फांसी लगा ली

ये भी पढ़ें- साहिर नौजवान दिलों के शायर थे : जावेद अख्तर

Share it
Top