Moinuddin Chishty

Moinuddin Chishty

मोईनुद्दीन चिश्ती, कृषि और पर्यावरण पत्रकार हैं। ये उनके निजी विचार हैं।


  • इस किसान ने साउथ अफ्रीका में 3000 बीघा जमीन में की औषधीय खेती, सनाय ने बदली किस्मत

    जोधपुर। कभी गेहूं जैसी फसलों की परंपरागत खेती करने वाले नारायणदास आज सोनामुखी (Sonamukhi) (सनाय) की खेती कर न केवल खुद मुनाफा कमा रहे हैं, बल्कि दूसरे किसानों को भी औषधीय फसलों की खेती के लिए प्रेरित कर रहे हैं। वर्ष 1952 में उन्होंने पहली बार लूणी इलाके में गेहूं की परंपरागत खेती की बजाय रायड़ा...

  • करोड़पति किसान: अमेरिका-जापान को हर साल भेजता है 60 करोड़ रुपए के जैविक उत्पाद

    जोधपुर (राजस्थान)। सात किसानों के साथ मिलकर समूह में जैविक खेती की शुरुआत करने वाले राजस्थान के योगेश जोशी के साथ आज 3000 से ज्यादा किसान जुड़े हैं। करीब 3000 एकड़ में जैविक खेती करवाने वाले योगेश साल में 60 करोड़ रुपए से ज्यादा का कारोबार भी कर रहे हैं। राजस्थान के जालोर जिले की सांचोर...

  • हर्बल खेती से कमाए लाखों रुपए, सीखिए इस किसान से

    गोरखपुर के रहने वाले अविनाश कुमार के जीवन की कहानी थोड़ी अलग है। पिताजी के सरकारी नौकरी में होने के कारण घर का माहौल शैक्षिक रहा। दो भाई सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनें। पत्रकारिता में एमए किया और उत्तर प्रदेश पुलिस में 6 साल तक सिपाही की नौकरी की, लेकिन मन नहीं रमा। सोचा खेती-किसानी की जाए। लेकिन पारंपरिक...

  • पक्षियों पर संकट मतलब इंसानी अस्तित्व पर खतरा

    जोधपुर। पक्षी सम्पूर्ण विश्व को प्रेम और ‛वसुधैव कुटुम्बकम' का सन्देश देने का काम करते हैं। सुदूर देशों से सफर करते हुए यह पक्षी राजस्थान की धरा को कलरव से भर देते हैं। हजारों की संख्या में यह राज्य के अलग-अलग हिस्सों में डेरा डालते हैं। इन मेहमानों का स्वागत मानों हमारी भारतीय संस्कृति में रचा-बसा...

  • 'बेर किंग' से सीखिए, कैसे बेर की खेती को बना सकते हैं कमाई का जरिया

    जोधपुर। जिले के पाल और गंगाणा गांवों में बेर की खेती करने वाले हाईफाई किसान इंतखाब आलम अंसारी से यह बात सीखी जा सकती है कि अपनी उच्च शिक्षा का फ़ायदा खेती-किसानी में कैसे लें। पढ़े लिखे अंसारी ने विरासत में मिली खेती में सफ़लता के नए मुहावरे जोड़ दिए और बेर की खेती में एक अलग मक़ाम हासिल किया और आज...

  • जोधपुर की मनस्वी ने आरंगेत्रम में बनाया विश्व रिकॉर्ड

    जोधपुर। सूर्यनगर की 10 बरस की मनस्वी चौधरी इन दिनों सुर्खियों में है। वह मात्र ढाई बरस की उम्र से ही शिवम नाट्यालय में अपनी गुरु मंजूषा सक्सेना से भरतनाट्यम की विधिवत तालीम ले रही है और भरतनाट्यम की 9 विधाओं की प्रस्तुति देकर ‛आरंगेत्रम' करने वाली दुनिया की दूसरी सबसे कम उम्र की नृत्यांगना बन गई...

  • घर-घर लगे गिलोय, सरकार ने शुरू किया अभियान

    दिल्ली। राजधानी दिल्ली में आयुष मंत्रालय, भारत सरकार और नेशनल मेडिसिनल प्लांट्स बोर्ड की ओर से ‛गिलोय' पर नेशनल कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। यह पहला अवसर है जब गुणों की खान के रूप में प्रचलित गिलोय यानी अमृता यानी गुडूची पर इतनी बड़ी कंपैन शुरू की गई है, उद्देश्य है आमला और ग्वारपाठे की तरह लोग...

  • यहां मिलता है 21 किलो का समोसा, 10 किलो का गुलाब जामुन और 8 किलो की कचौड़ी

    बीकानेर। इन दिनों बीकानेर का खानपान अपनी एक और विशेषता के चलते देशभर में लोकप्रियता हासिल कर रहा है। इस लोकप्रियता के पीछे एक व्यक्ति का अपने पेशे के प्रति समर्पण भाव है। बीकानेर के रहने वाले धर्मेंद्र अग्रवाल को ‛चटखारे का बादशाह' कहकर पुकारा जाता है। वैसे तो बीकानेर रसगुल्ले, गुलाब जामुन, भुजिया,...

Share it
Top