विजय रुपाणी फिर गुजरात के मुख्यमंत्री और नितिन पटेल उपमुख्यमंत्री चुने गए 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   22 Dec 2017 7:18 PM GMT

विजय रुपाणी फिर गुजरात के मुख्यमंत्री और नितिन पटेल उपमुख्यमंत्री  चुने गए विजय रूपानी गुजरात के नए मुख्यमंत्री। 

लखनऊ। गुजरात भाजपा विधायक दल के फैसले के बाद विजय रुपाणी को गुजरात का नया मुख्यमंत्री फिर चुन लिया गया है। इसके साथ ही नितिन पटेल को प्रदेश के उपमुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है। विजय रुपाणी 25 दिसम्बर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

नवनियुक्त विधायकों की बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इसकी घोषणा की। जेटली ने पत्रकारों को बताया कि विधायकों ने निर्विरोध रूप से रूपाणी को भाजपा विधायक दल का नेता चुना। उन्होंने बताया कि पटेल को सदन का उपनेता चुना गया है।

जेटली ने बताया कि शपथ समारोह की तिथि की घोषणा अलग से की जाएगी। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के करीबी माने जाने वाले रूपाणी दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री चुने गए। वैसे भाजपा ने इस अहम पश्चिमी राज्य में लगातार छठी बार सत्ता बरकरार रखी है लेकिन प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस से महज मामूली अंतर से पार्टी की जीत के चलते रुपाणी के अपने पद पर बने रहने के बारे में तमाम तरह की अटकलें लगने लगी थीं।

भाजपा ने 182 सदस्यीय विधानसभा में 99 सीटें जीती हैं और 1995 के बाद से पहली बार उसकी सीटें सौ के नीचे गयी है। लुनावाड़ा के निर्दलीय विधायक रतनसिंह राठौड़ ने भाजपा को समर्थन देने की घोषणा की है। इस समर्थन के साथ ही विधानसभा में भाजपा का आंकड़ा 100 हो गया है।

कांग्रेस ने पिछले कई साल में पहली बार सबसे अच्छा प्रदर्शन किया एवं 77 सीटें जीतीं। सहयोगियों के साथ मिलकर विधानसभा में उसका संख्याबल 80 हो गया है। विधायक दल के नेता के चुनाव में शीर्ष पार्टी नेतृत्व के साथ नजदीकी, स्वच्छ एवं जातीय रुप से तटस्थ छवि रुपाणी के पक्ष में गए।

जेटली ने कहा कि भाजपा महासचिव सरोज पांडे समेत केंद्रीय पर्यवेक्षकों ने विधायकों से विधायक दल के नेता और उपनेता के लिए नाम पूछे। उनमें से एक भूपेंद्र सिंह चूडासमा ने इन पदों के लिए क्रमश: रुपाणी एवं पटेल के नाम सुझाए। पांच अन्य ने चूडासमा के प्रस्ताव का समर्थन किया।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उन्होंने विधायकों से इन शीर्ष पदों के लिए और नाम मांगे लेकिन किसी ने कोई और नाम नहीं सुझाए। रुपाणी और पटेल क्रमश: पार्टी विधायक दल के नेता एवं उपनेता घोषित किए गए। जब जेटली से पूछा गया कि इस बात पर संशय क्यों था कि कौन अगला मुख्यमंत्री होगा तो उन्होंने कहा कि यह मीडिया की देन है।

उन्होंने कहा कि रुपाणी नई सरकार बनाने से पहले निर्वाचित विधायकों से परामर्श करेंगे। वह राज्यपाल ओ पी कोहली से मिलेंगे एवं शपथ ग्रहण की तारीख तय करेंगे।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top