Top

मुख्तार अब्बास नकवी को दूसरी बार मोदी मंत्रिमंडल में जगह, इस बार हुआ प्रमोशन

भारतीय जनता पार्टी के अल्पसंख्यक चेहरा माने जाने वाले मुख्तार अब्बास दूसरी बार मोदी कैबिनेट में शामिल हुए। मोदी सरकार के पिछले कार्यकाल में उन्होंने राज्य मंत्री के तौर पर शपथ लिया था। इस बार मुख्तार अब्बास नकवी को कैबिनेट मंत्री के तौर पर मोदी मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है।

मुख्तार अब्बास नकवी को दूसरी बार मोदी मंत्रिमंडल में जगह, इस बार हुआ प्रमोशन

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के अल्पसंख्यक चेहरा माने जाने वाले मुख्तार अब्बास दूसरी बार मोदी कैबिनेट में शामिल हुए। मोदी सरकार के पिछले कार्यकाल में उन्होंने राज्य मंत्री के तौर पर शपथ लिया था। इस बार मुख्तार अब्बास नकवी को कैबिनेट मंत्री के तौर पर मोदी मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। मुख्तार अब्बास नकवी खुद को राजनैतिक-सामाजिक क्षेत्र में महात्मा गांधी, पंडित दीन दयाल उपाध्याय, जयप्रकाश नारायण, डॉ राम मनोहर लोहिया, अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी और नरेंद्र मोदी से प्रभावित बताते हैं।

हज कोटा बढ़वाने में अहम भूमिका

मुख्तार अब्बास नकवी का कहना है "सीखना कभी बंद नहीं होना चाहिए, क्योंकि जीवन का हर अध्याय एक सबक है"। नरेंद्र मोदी के पिछले कार्यकाल में में अल्पसंख्यक कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रहे मुख्तार अब्बास नकवी ने देश के हज कोटे को बढ़वाने में अहम योगदान दिया था। उनके प्रयासों के बाद ही सऊदी अरब ने 2019 के लिए भारत के वार्षिक हज कोटे में 25 हजार की वृद्धि की थी। इंडोनेशिया के बाद भारत का हज कोटा सबसे ज्यादा रखा गया है। वर्ष 2019 में पाकस्तिान से भी ज्यादा भारत के करीब दो लाख मुस्लिम यात्री हज कर सकेंगे। हज यात्रा पर जाने वालों में बिना "मेहरम" (पुरुष रश्तिेदार) के हज पर जाने वाली 2340 मुस्लिम महिलाएं भी इस साल शामिल होंगी।

अपातकाल में गए थें जेल

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद के एक सामान्य परिवार में 15 अक्टूबर 1957 को जन्मे नकवी 1975 में आपातकाल के दौरान जयप्रकाश नारायण के संपूर्ण क्रांति आंदोलन में सक्रिय रहे। 17 वर्ष की उम्र में मीसा-डी.आई.आर की तहत जेल में नजरबन्द किये गए। लोकतान्त्रिक मूल्यों एवं सामाजिक सरोकार को लेकर कई आंदोलनों-अभियानों में सक्रिय रहे नकवी ने मास कम्युनिकेशन में पोस्ट-ग्रेजुएशन किया है। भाजपा उम्मीदवार के रूप में अब तक दो विधानसभा (1991, 1993) और तीन लोकसभा (1998, 1999, 2009) चुनाव लड़ चुके नकवी 1998 में उत्तर प्रदेश की रामपुर संसदीय सीट से भाजपा के पहले मुस्लिम लोकसभा सदस्य निर्वाचित हुए थे। 2002, 2010, 2016 में मुख्तार अब्बास नकवी राज्यसभा सदस्य भी चुने गए। 1998 में तत्कालीन अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में नकवी सूचना प्रसारण एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री भी रहे हैं।

पहले भी कई अहम पदों पर रह चुके हैं

बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय प्रवक्ता, भाजपा की युवा शाखा भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान केंद्रीय चुनाव प्रबंधन-समन्वय के प्रमुख, केंद्रीय चुनाव समिति के सदस्य और पार्टी की चुनाव सुधार समिति के अध्यक्ष के रूप में कई अहम और चुनौतीपूर्ण जिम्मेदारियां निभा चुके नकवी कई राज्यों के संगठन प्रभारी भी रह चुके हैं।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.