योगेंद्र यादव ने ‘आप’ पर कर अधिकारियों को झांसा देने का लगाया आरोप 

योगेंद्र यादव ने ‘आप’ पर कर अधिकारियों को झांसा देने का लगाया आरोप योगेंद्र यादव।

नई दिल्ली (भाषा)। स्वराज इंडिया के संस्थापक योगेंद्र यादव ने आम आदमी पार्टी को दिये गये आयकर नोटिस को लेकर आज उस पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली पार्टी ने दोहरे खाते रखे, जानकारी छिपाई और कर अधिकारियों को झांसा देते रहे।

हालांकि यादव ने माना कि यह नोटिस आम आदमी पार्टी के खिलाफ राजनीतिक प्रतिशोध को भी दर्शाता है। यादव ने ट्वीट किया, ''जाहिर है कि यह बदले की भावना से किया गया है। लेकिन एक पार्टी जिसने पूरी राजनीतिक व्यवस्था पर सवाल उठाया हो उसे बेहतर पता होना चाहिए। आयकर का नोटिस ठोस आधार पर है। आप ने दोहरे खाते रखे, जनता से जानकारी छिपाई और कर अधिकारियों को झांसा दिया। आर्थिक शुचिता और पारदर्शिता पर आप का आडंबर सामने आ गया।''

ये भी पढ़ें - देश की जनता को गुमराह कर रहे केजरीवाल : योगेंद्र यादव

आयकर विभाग ने आप पर दिल्ली के एक शख्स से दो करोड़ रुपये की हवाला राशि लेने का आरोप लगाया है और 2015-16 के लिए राजनीतिक दल के नाते उसे मिली हुई कर छूट को समाप्त कर दिया। आयकर विभाग के नोटिस पर केजरीवाल ने इसे बदले की राजनीति की पराकाष्ठा कहा था। यादव और उनके साथ आप के नेता रहे प्रशांत भूषण ने अप्रैल 2015 में पार्टी छोड़ने से पहले उसके चंदे पर सवाल उठाये थे।

ये भी पढ़ें - सरकार का 'ग्राम उदय से भारत उदय कार्यक्रम' एक छलावा है: योगेंद्र यादव

Share it
Top