विशाखापट्टनम में जहरीली गैस रिसाव से 8 की मौत, 200 से अधिक लोग अस्पताल में भर्ती

सैकड़ों लोग सिर दर्द, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ के साथ अस्पताल पहुंच रहे हैं।

विशाखापट्टनम में जहरीली गैस रिसाव से 8 की मौत, 200 से अधिक लोग अस्पताल में भर्ती

आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एक फार्मा कंपनी में जहरीली गैस लीक होने से 8 लोगों की मौत हो गई, जबकि 200 से अधिक लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। यह हादसा विशाखापट्टनम के आरआर वेंकटपुरम स्थित विशाखा एलजी पॉलिमर कंपनी में बुद्धवार-गुरूवार की मध्य रात्रि में हुआ, जब फैक्ट्री के किसी पाइपलाइन से स्टाइरिन नाम की जहरीली गैस का रिसाव होने लगा।



स्थानीय प्रशासन और नेवी आपदा बचाव कार्य में लग गए हैं। इस फैक्ट्री के आस-पास के तीन किलोमीटर के भीतर के गांवों को खाली कराया जा रहा है। सैकड़ों लोग सिर दर्द, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ के साथ अस्पताल पहुंच रहे हैं। गंभीर लोगों को अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है, जिनकी संख्या 200 के करीब है।


वहीं फैक्ट्री प्रशासन ने आपदा अधिकारियों की मदद से घंटों बाद गैस लीक पर काबू पा लिया। लेकिन तब तक फैक्ट्री के आस-पास के पांच गांव इसके चपेट में आ चुके थे। इन पांच गांवों के 3000 से अधिक लोगों को स्थानीय प्रशासन और सेना की मदद से रेस्क्यू किया जा रहा है। प्रशासन ने बताया है कि 1000 से अधिक लोग इस गैस लीक से प्रभावित हुए हैं। इसके चपेट में आने वाले सैकड़ों लोग सिर दर्द, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ के साथ अस्पताल पहुंच रहे हैं। कई लोग बेहोश होकर सड़कों-नालों में गिर रहे हैं, जिसमें जानवर भी शामिल हैं।

गैस लीक के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। मामले के जांच के आदेश दिए गए हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी घटना स्थल का जायजा लेने के लिए रवाना हो चुके हैं। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने भी मामले को संज्ञान में लेते हुए गृह मंत्रालय और आपदा अधिकारियों से बात की और जल्द से जल्द रेस्क्यू अभियान को पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होंने इसके चपेट में आने वाले लोगों को जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना की।


खबर अपडेट हो रही है ...


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.