उत्तरी बिहार के कई जिलों में बाढ़ से हालत गंभीर, सैकड़ों गांव टापू में हुए तब्दील

उत्तरी बिहार के कई जिलों में बाढ़ से हालत गंभीर, सैकड़ों गांव टापू में हुए तब्दील

लखनऊ। भारी बारिश और नदियों के बढ़ते हुए जलस्तर से उत्तरी बिहार के कई जिलों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। इस क्षेत्र में बहने वाली नदियों बागमती, कमला, गंडक, कोसी आदि में लगातार पानी बढ़ रहा है, जिससे हालात लगातार बिगड़ रहे हैं। नदियों का जलस्तर बढ़ने से बिहार के सैकड़ों गांव प्रभावित हुए हैं, वहीं दर्जन भर गांव टापू में तब्दील हो गए हैं। स्थानीय अखबार प्रभात खबर की एक रिपोर्ट के मुताबिक विभिन्न जिलों में बाढ़ में डूबने से अभी तक 16 लोगों की मौत हो गई है।

बागमती नदी ने उच्चतम जलस्तर का नया रिकॉर्ड बना दिया है वहीं मधुबनी जिले के जयनगर में कमला बराज के ऊपर से पानी बह रहा है। कोसी और गंडक भी रिकॉर्ड जलस्तर पर बह रहे हैं। बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए राज्य आपदा मोचन विभाग (एसडीआरएफ) की टीमें बाढ़ प्रभावित जिलों में मौजूद हैं।

कई जगहों पर रेलवे लाइन पर पानी घुसने और ट्रैक धंस जाने से कई ट्रेनों का आवागमन बाधित हुआ है। मौसम विभाग ने रविवार और सोमवार को भी नेपाल और बिहार में भारी बारिश की संभावना जताई है, जिससे स्थिति और गंभीर हो सकती है। फिलहाल प्रशासन ने लोगों को सतर्क रहने और सुरक्षित जगहों पर शरण लेने की अपील की है। स्थानीय प्रशासन लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाने में सहायता कर रही है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top