पश्चिमी महाराष्ट्र में बाढ़ से भीषण तबाही, एक लाख से अधिक प्रभावित

पश्चिमी महाराष्ट्र में बाढ़ से भीषण तबाही, एक लाख से अधिक प्रभावित

पश्चिमी महाराष्ट्र के कोल्हापुर और सांगली जिलों में भारी बारिश के बाद बाढ़ की स्थिति भयावह हो गई है। बाढ़ से 200 से अधिक गांव और एक लाख से अधिक लोग प्रभावित हैं। वहीं 340 से अधिक पुल डूब गए हैं। बचाव कार्यों में नौसेना की पांच टीमों को लगाया गया है। इसके अलावा गोताखोरों की टीम, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) को भी बचाव कार्य में लगाया गया है।

कोल्हापुर के रेजिडेंट डिप्टी कलेक्टर संजय शिंदे ने बताया कि कोल्हापुर के 204 गांवों के 51, 000 लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। इनमें से 15,000 लोगों को नौसेना और पुलिस की मदद से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वहीं सांगली जिले के करीब 53 हजार और रायगढ़ के 3000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

शिंदे ने बताया कि बाढ़ से 342 पुल पानी में डूब गए हैं। पुलों के टूटने और डूबने से 29 राज्य राजमार्ग और 56 मुख्य सड़कें बंद हैं। मुंबई-बेंगलुरु राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 4 और कोल्हापुर-रत्नागिरि राजमार्ग पूरी तरह से बंद है। बचाव कार्य में 45 से ज्यादा नावों को लगाया गया है। उन्होंने बताया कि उनके कार्यालय में भी बारिश का पानी भर गया है।

खराब मौसम से बचाव कार्य प्रभावित

नौसेना के रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि बचाव टीमों ने शुरू में लोगों को हेलीकॉप्टर से बाहर निकालने की योजना बनाई लेकिन खराब मौसम के कारण हेलीकॉप्टर को उड़ने की अनुमति नहीं दी गई। इसके बाद गोताखोरों की टीम की सहायता से बचाव कार्य शुरू हुआ।

सीएम ने स्थिति की समीक्षा की

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य के विभिन्न बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को बाढ़ से निपटने के लिए खाद्य पदार्थ, पेय जल और अन्य जरूरी सामानों का पर्याप्त प्रबंधन करने का निर्देश दिया।

राज्य में बाढ़ के हालात का जायजा लेने के लिए उन्होंने एक बैठक भी किया। मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को कोल्हापुर, सांगली, रायगढ़ और पालघर जिलों में बाढ़ प्रभावित लोगों के लिये भोजन, पेयजल और अन्य जरूरी सामानों की आपूर्ति के लिये पर्याप्त इंतजाम करने का निर्देश दिया।

(भाषा से इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें- बिहार बाढ़: बाढ़ पीड़ितों की मदद करने वाले पीली टी-शर्ट पहने ये लड़के कौन हैं ?


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top