सेहत कनेक्शन

सौंदर्य में चार चांद लगाएं इन देसी नुस्ख़ों से

भागदौड़ और तनाव ग्रस्त जीवन में वक्त की कमी होने की वजह से लोगों का ध्यान परंपरागत हर्बल नुस्खों से दूर होता जा रहा है और आहिस्ता-आहिस्ता रसायनयुक्त घातक उत्पादों ने घर-घर तक अपनी पहुंच बना ली है किंतु अब वक्त आ चुका है जब कि हमें अपनी जड़ों तक जाना होगा, यानि सदियों से चला आ रहा परंपरागत हर्बल ज्ञान अपनाने की कवायद शुरू करनी होगी।

चेहरे के सौंदर्य को स्वस्थ बनाए रखने के लिए हिन्दुस्तानी परंपरागत ज्ञान बेजा कारगर है। ऐसे कई तरह के हर्बल नुस्खे हैं जिनका इस्तमाल कर सौदर्य से जुड़ी समस्याओं को दूर किया जा सकता है। चेहरे पर मुहांसे हो या दाग-धब्बे या उम्र के पड़ाव के साथ चेहरे पर आने वाली झुर्रियां, इन सब के लिए परंपरागत स्वदेशी ज्ञान बेहद कारगर है बशर्ते इन्हें सही तरह इस्तमाल मेम लाया जाए। आज हम कुछ चुनिंदा हर्बल नुस्खों का जिक्र करेंगे जिनका उपयोग कर सौदर्य से जुड़ी समस्याओं से निजात पायी जा सकती है।

  • केला त्वचा के लिए एक अच्छा नमी कारक (Moisturizer) उपाय है। पके हुए केले को अच्छी तरह से मैश कर लिया जाए और चेहरे पर फेसपैक की तरह लगा दिया जाए, करीब 15 मिनट बाद इसे धो लिया जाए। चेहरा धुल जाने के बाद रक्त चंदन का लेप भी लगाया जाए, माना जाता है कि ऐसा करने से चेहरे की त्वचा में जबरदस्त निखार आता है। कई क्लिनिकल स्टडीस से यह भी ज्ञात हुआ है कि केले की पत्तियां त्वचा पर होने वाले अनेक सूक्ष्मजीवी खतरनाक संक्रमण को रोकने के लिए कारगर साबित हुयी हैं। पत्तियों का रस अनेक तरह के त्वचा विकारों को दूर करने में सक्षम है।
  • पान के एक पत्ते को कुचल लिया जाए और इसमें एक चम्मच नारियल का तेल मिला लिया जाए। इसे चेहरे या शरीर के किसी भी हिस्से पर बने दाग, काले निशान या धब्बों पर लगाकर कुछ देर रखा जाए और फिर धो लिया जाए। ऐसा सप्ताह में कम से कम 2 से 3 बार किया जाए तो 3 महीने के भीतर निशान मिट सकते हैं।
  • एक आलू को बारीक पीस लिया जाए और इसमें 2-3 चम्मच कच्चा दूध मिला लिया जाए ताकि पेस्ट तैयार हो जाए। इस पेस्ट को प्रतिदिन सुबह शाम कुछ देर के लिए काले निशानों पर लगाकर रखा जाए और फिर धो लिया जाए, शीघ्र ही निशान दूर हो जाएंगे।
  • चुकंदर को कच्चा चबाना ही ज्यादा फायदामंद होता है क्योंकि इसे उबालने से इसमें पाए जाने वाले महत्वपूर्ण खनिज और फोलिक अम्ल नष्ठ हो जाते हैं। माना जाता है कि जो लोग ज्यादा चुकंदर का सेवन करते हैं, उनके बाल, नाखून आदि ज्यादा चमकदार और स्वस्थ रहते हैं।
  • चेहरे की सुंदरता के लिए दो चम्मच टमाटर का रस और आधा चम्मच शहद मिलाकर चेहरे पर लगाया जाए और 20 मिनिट के बाद धो लिया जाए, चेहरा तेजवान दिखाई देता है। चुकंदर को एंटी एजिंग के लिए एक महत्वपूर्ण और कारगर फार्मुला माना गया है। यह शारीरिक कोशिकाओं को तरोताजा रखने में सहायक तो होता ही है इसके अलावा रक्त संचार को सुचार रखने में बेहतर साबित होता है।
  • मध्य भारत के कई इलाकों में पारंपरिक हर्बल वैद्य शहद के साथ फेसपैक तैयार करते हैं। इन जानकारों के अनुसार बेसन, शहद, जैतून, दूध मलाई को मिलाकर बना ये फेसपैक एक कारगर फ़ेसियल टॉनिक की तरह कार्य करता है। फेशपैक को तैयार करने के लिए करीब 3 चम्मच बेसन, शहद, दूध मलाई और जैतून के तेल की 1-1 चम्मच मात्रा को आपस में मिला लिया जाता है और चेहरे पर लेपित कर दिया जाता है। करीब 20 मिनिट बाद इसे साफ पानी से धो लिया जाता है।
  • औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी के रस में थाइमोल तत्व पाया जाता है जिससे त्वचा के रोगों में लाभ होता है। पातालकोट के आदिवासी हर्बल जानकारों के अनुसार तुलसी के पत्तों को त्वचा पर रगड़ दिया जाए तो त्वचा पर किसी भी तरह के संक्रमण में आराम मिलता है। इसकी पत्तियों का रस निकाल कर बराबर मात्रा में नींबू का रस मिलायें और रात को चेहरे पर लगाये तो झाईयां नहीं रहती, फुंसियां ठीक होती है और चेहरे की रंगत में निखार आता है।
  • बरगद की हवाई जड़ों में एँटीऑक्सीडेंट सबसे ज्यादा पाए जाते हैं, इसके इसी गुण के कारण वृद्धावस्था की ओर ले जाने वाले कारकों को दूर भगाया जा सकता है। हवा में तैरती ताजी जडों के सिरों को काटकर पानी में कुचला जाए और रस को चेहरे पर लेपित किया जाए तो चेहरे से झुर्रियां दूर हो जाती है। पैरों की फटी एडियों पर बरगद का दूध लगाया जाए तो कुछ ही दिनों फटी एडियां सामान्य हो जाती हैं और तालु नरम पड जाते हैं। डाँग-गुजरात के आदिवासियों के अनुसार प्रतिदिन रात में सोने से पहले बरगद के दूध को एडियों पर लगाना चाहिए।
  • चेहरे और गर्दन के हिस्से पर 2 चम्मच टमाटर का रस और 4 चम्मच दही के मिश्रण को लगाया जाए और जब यह सूख जाए तब इसे धो लिया जाए तो यह चेहरे की सुंदरता को और भी निखार देता है। इसी नुस्खे को थोड़ी अलग तरह से इस्तमाल कर एक और नुस्खा इस्तमाल में लाया जाता है। दो टमाटर को लेकर कुचला जाए और इसमें 3 चम्मच दही और दो चम्मच जौ का आटा मिला दिया जाए। चेहरे पर इस मिश्रण को कम से कम 20 मिनिट के लिए लगाकर रखा जाए तो यह त्वचा के सिकुड़न में मदद करता है जिससे झुर्रियां कम होने लगती हैं। इस उपाय को सप्ताह में 2 बार कम से कम 1 माह तक उपयोग में लाना चाहिए, फायदा होता है।
  • दो चम्मच शहद और एक चम्मच नींबू के रस का मिश्रण त्वचा पर लगाया जाए और करीब 20 मिनिट बाद साफ सूती कपड़े या कपास से इसे साफ कर लिया जाए, त्वचा नर्म और मुलायम हो जाती है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).