रोज़ 10 मिनट खुल कर हंसें, इन बीमारियों से रहेंगे दूर

रोज़ 10 मिनट खुल कर हंसें, इन  बीमारियों से रहेंगे दूरहंसना है फायदेमंद

आपने दो सेल्फी लीं एक मुस्कुराते हुए एक सामान्य, इन दोनों को गौर से देखिएगा, यकीनन वही सेल्फी बेहतर होगी जिसमें आप मुस्कुरा रहे होंगे। सोचिए जब हल्की सी मुस्कुराहट आपके फोटों को ख़ूबसूरत बना देती है तो इसके और कितने फायदे होंगे।

मुस्कुराहट आपको जितना ख़ूबसूरत दिखाती है, ये आपकी सेहत तो भी उतना ही दुरुस्त भी बनाती है। अंग्रेज़ी की एक कहावत है 'लाफ्टर इज़ बेस्ट मेडिसिन' यानि हंसी सबसे अच्छी दवा है। हंसते समय हमारे शरीर की मांसपेशियां में जो खिंचाव होता है वो एक एक्सरसाइज़ की तरह होता है। इस दौरान जो हार्मोन रिलीज़ होते हैं वे भी सेहत पर अच्छा असर डालते हैं।

  • खुलकर हंसने से तेज़ दर्द में राहत मिलती है। कुछ शोधों में भी पाया गया है कि न्डिलाइटिस के दर्द में अगर कोई व्यक्ति हंसता है तो उसे काफी राहत मिलती है। अगर 10 मिनट तक लगातार हंस लिया जाए तो ये दर्द काफी कम हो जाता है नींद भी बेहतर आती है।
  • वेबसाइट लाफ्टर ऑनलाइन यूनिवर्सिटी के मुताबिक, हंसते समय एंडॉर्फिन हॉर्मोन रिलीज़ होता है। ये हॉर्मोन आपके अंदर माफी, दया और देखभाल की भावना को बढ़ाता है, जब आपके अंदर ये भावना आती है तो इसके साथ एक सकारात्मक ऊर्जा भी आती है और आप खुश महसूस करते हैं। एंडॉर्फिन दिमाग को सकारात्मकता मिलती है और उम्मीद, आत्मविश्वास बढ़ता है।

ये भी पढ़ें- बचपन का मोटापा सेहत की प्रमुख समस्या

  • एंडॉर्फिन हॉर्मोन दिल की सेहत के लिए भी अच्छा होता है यानि हंसने से आपका दिल भी दुरुस्त होता है।
  • हंसने से कॉर्टिसोल व एपिनेफ्रीन का स्राव कम होता है। कॉर्टिसोल व एपनिफ्रीन तनाव पैदा करना करने वाले हॉर्मोन होते हैं। अगर आप खुलकर हंसते हैं तो आप ज़्यादा सामाजिक बनते हैं और लोगों के साथ जुड़ने की कोशिश करते हैं जिससे तनाव व अवसाद जैसी समस्या अपनेआप कम हो जाती है।
  • यूनिवर्सिटी ऑफ मेरीलैंड के एक शोध में पाया गया कि हंसने से शरीर में खून का प्रवाह भी बेहतर होता है। इस अध्ययन में लोगों को दो समूहों में रखा गया था। पहले समूह को कॉमेडी कार्यक्रम दिखाया गया और दूसरे को ड्रामा। शोध में पाया गया कि
  • कॉमेडी कार्यक्रम देखकर जो लोग खुलकर हंस रहे थे उनका रक्त संचार अन्य प्रतिभागियों की तुलना में काफी बेहतर था।
  • ऐसा देखा गया है कि जो लोग ज़िंदगी को खुलकर जीते हैं, वे बुढ़ापे में तेजी से चलते हैं और ज्यादा सक्रीय रह पाते हैं। साथ ही खुश रहने वाले बुजुर्ग लोगों को बिस्तर से उठने में, कपड़े पहनने में या नहाने जैसे कामों में कोई दिक्कत नहीं होती। रोज़ एक घंटा हँसने से 400 कैलोरी ऊर्जा की खपत होती है, जिससे मोटापा भी काबू में रहता है।
  • तेज़ हंसने से चेहरे की मांसपेशियों का व्यायाम हो जाता है जिससे चेहरे पर जल्दी झुर्रियां नहीं पड़तीं। हंसने से त्वचा भी अच्छी होती है। लॉयड नामक पत्रिका में प्रकाशित एक शोध के अनुसार हंसने के दौरान हम गहरी सांस लेने और छोड़ने की एक्सरसाइज करते हैं, जिससे शरीर में ऑक्सीजन का संचार बेहतर तरीके से होता है। और इसकी वजह से हम लंबे समय तक तरोताजा व ऊर्जावान रह सकते हैं।
  • हंसते समय शरीर में ज़्यादा मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचती है जिससे शरीर का प्रतिरक्षा तंत्र मज़बूत होता है।

ये भी पढ़ें- सेहत कनेक्शन : पालक, चौलाई, मेथी, खाने से आपको होगें ये लाभ

ये भी पढ़ें- सेहत की रसोई : बढ़ते वजन से परेशान हैं तो खाइए 'कोकम कढ़ी'

Tags:    health tips 
Share it
Top