हाथों व तलवों में आता हो पसीना तो जरूर पढ़ें ये

हाथों व तलवों में आता हो पसीना तो जरूर पढ़ें येज्यादा पसीना आना भी एक बीमारी।

लखनऊ। पसीना आना शरीर की स्वाभाविक क्रिया है। यह शरीर को उसके सामान्य तापमान को बनाए रखने में मदद करता है। लेकिन कई लोगों के हाथों व तलवों से ज्यादा पसीना आने की शिकायत होती है।

अगर आपके हाथों से नार्मल से ज्यादा पसीना निकलता है, तो आप इस बीमारी की चपेट में है। वैसे तो गर्मियों के समय हमारे शरीर से पसीना निकलना कोई बड़ी समस्या नहीं है, लेकिन सर्दियों के समय हाथ और तलवें से पसीना आना या फिर किसी खास स्थान में पसीना आता है तो आपको हाइपरहाइड्रोसिस नामक बीमारी है। हाइपरहाइड्रोसिस से ग्रस्त लोगों में पसीने की ग्रंथि बहुत अधिक सक्रिय होती है। जानिए क्या है ये बीमारी और इससे बचने के उपाय के बारें में।

ये भी पढ़ें:हर वक्त दिमाग में रहती है शॉपिंग तो हो सकती है ये बीमारी

क्या है हाइपरहाइड्रोसिस

हाइपरहाइड्रोसिस दो तरह के होते है एक प्राइमरी और दूसरा सेकेंड्री। प्राइमरी हाइपरहाइड्रोसिस में कोई कारण नजजर नहीं आता और बेवजह पसीना बहता है। जिससे कोई समम्या नहीं होती है। वहीं सेकेंड्री हाइपरहाइड्रोसिस में पसीना निकलने के बहुत सारे कारण सामने आ सकते हैं। आपको कई गंभीर बीमारी हो सकती है जैसे कि मधुमेह, मेनोपॉज़, लो ग्लूकोज़ या हाइपरथायराइडिज्म हो सकता है। इसलिए अगर आपको ऐसी समस्या है तो सचेत हो जाए। जिससे कि ये बीमारी ज्यादा न बढ़ पाएं।

लक्षण

जिस व्यक्ति को यह बीमारी हो जाती है। अगर उसे बिना तनाव या घबराहट के भी पसीना आता है। गर्मी न हो फिर भी उसे महसूस होता है कि उसे पसीना निकल रहा है। इसमें इतना ज्यादा पसीना आएगा कि कपड़े तक गीले दिखाई देने लगेंगे। इस बीमारी में सबसे ज्यादा पसीना शरीर के बाजू, चेहरे, हथेलियां, पांव और गुप्तांग पर पसीना आएगा।

ये भी पढ़ें:युवाओं में बढ़ रही पैर सूजने की बीमारी

उपचार

बेकिंग सोडा - गरम पानी में थोड़ा सा बेकिंग सोडा मिला कर उसमें अपने पसीनेदार हाथों को डुबोएं। ऐसा केवल कुछ मिनट के लिये कीजिये और फिर देखिये कि इस घोल से हाथ को निकालने के बाद कई घंटो तक आपके हाथों में पसीना नहीं आएगा।

टैल्‍कम पाउडर- अगर हथेलियों में हल्‍का पसीना आता है तो, उस पर टैल्‍कम पाउडर लगाइये। आप अपने बैग में पाउडर रख भी सकती हैं जिससे जरुरत पड़ने पर इस्‍तमाल किया जा सकता है। टी बैग- एक कटोर में पानी डाल कर उसमें 4-5 टी बैग डालिये और उसमें अपनी हथेलियों को भिगो दीजिये। यह प्राकृतिक रूप से आपके हाथों का पसीना कंट्रोल करेगी।

ध्‍यान- मेडिटेशन करने से आपके कई सारे रोग दूर हो सकते हैं। अत्‍यधिक पसीना तभी निकलता है जब आप स्‍ट्रेस में हों या आपको किसी बात की बेचैनी हो रही हो। लेकिन योग और ध्‍यान से आप अपने स्‍ट्रेस के लेवल को कम कर के पसीने को रोक सकते हैं।

खान-पान में सुधार- ज्यादा पसीना रोकने के लिये अपनी डाइट में सुधार भी करना जरुरी है। इसके अलावा लहसुन, प्‍याज और अन्‍य मसालों को खाने से पसीना ज्‍यादा बहता है, इसलिये इनका सेवन कंट्रोल में रह कर करें। टमाटर का रस भी रोजाना पीसे से इस समस्‍या से राहत मिलती है क्‍योंकि यह शरीर को ठंडा रखता है।

Share it
Top