सेहत की रसोई में आपको बताएँगे पपीते की चटनी साथ में हरे लहसुन और प्याज़ की चटनी के बारे में 

सेहत की रसोई में आपको बताएँगे पपीते की चटनी साथ में हरे लहसुन और प्याज़ की चटनी के बारे में भोजन में चटनी अगर शामिल कर लिया जाये तो बात ही कुछ और है।

ऐसा कहा जाता है कि आपके व्यंजन स्वस्थ हैं तो वो आपका ख्याल रखेंगे वर्ना औषधियां आपका ख्याल रखेंगी। स्वस्थ रसोई स्वस्थ परिवार की सूचक होती है यानी रसोई में स्वस्थ और साफ सुधरा भोजन और सफाई हो तो आधे से ज्यादा बीमारियां आपके परिवार के करीब भी नहीं पहुंचेगी। “सेहत की रसोई” कॉलम के जरिए हमारा भी यही प्रयास है कि आपको रसोई में तैयार होने वाले स्वस्थ और सेहतमंद व्यंजनों से परिचित कराया जाए ताकि आप और आपके परिवार की सेहत हर समय दुरुस्त रहे।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इस कॉलम में मुंबई नोवोटेल में कार्यरत मास्टरशेफ भैरव सिंह राजपूत हर सप्ताह हमारे पाठकों के लिए खास रेसिपी लेकर आते हैं और इन रेसिपी के खास गुणों की वकालत करते हैं हमारे हर्बल आचार्य डॉ दीपक आचार्य। इस सप्ताह भैरव ला रहें हैं दो खास चटनियों की सौगात यानि सेहत और स्वाद से भरपूर चटनियों की रेसिपी जिन्हें आप अपने भोजन के साथ अपनाकर अपनी सेहत के रखरखाव के साथ स्वाद का आनंद भी ले सकते हैं।

कच्चे पपीते की चटनी

आवश्यक सामग्री

  • मध्यम आकार का कच्चा पपीता- 500 ग्राम
  • शक्कर- 250 ग्राम
  • सफेद सिरका
  • प्याज के बीज
  • खड़ी लाल मिर्च- 2
  • काला नमक- स्वादानुसार

विधि

कच्चा पपीता लेकर छिलका उतार लें और इसे काटकर इसके बीज अलग करके बारीक बारीक टुकड़े तैयार कर लें। एक बर्तन में कटे हुए पपीते के टुकड़ों और सफेद सिरका लेकर मध्यम आंच पर 15 मिनट तक गर्म करें। जब यह गर्म हो जाए तो इसमें शक्कर, नमक, लाल मिर्च और प्याज के बीज या जिन्हें कलौंजी कहा जाता है, डाल दें और ध्यान रखें की पपीता ज्यादा गले नहीं। आंच से अलग करके इसे किसी ठंडे स्थान पर रख दें और फिर इसे एयर टाइट कंटेनर में रखकर रेफ्रिजरेट कर दें। रोज भोजन करते समय आधा चम्मच इस चटनी को जरूर अपनी थाली में परोसे और स्वाद लेकर आनंदित हो जाएं।

हरे लहसुन और प्याज की चटनी

आवश्यक सामग्री

  • लहसुन की हरी पत्तियां- 250 ग्राम
  • प्याज की हरी पत्तियां- 100 ग्राम
  • हरी मिर्च- 5
  • नींबू- 2
  • नमक- स्वादानुसार
  • काला नमक- स्वादानुसार

विधि

लहसुन और प्याज की ताज़ा हरी पत्तियों और मिर्च को लेकर साफ धो लें और बारीक बारीक काट लें। एक ब्लेंडर में इन बारीक कटी हुयी पत्तियों और मिर्च को डाल दें, इसमें बर्फ के 2 छोटे आकार के टुकड़े और नींबू के रस को डालकर ब्लेंड करें, इससे पेस्ट तैयार हो जाएगा, इस पेस्ट को एक मिक्सिंग बाउल में डाल दें। इस पेस्ट में साधारण नमक और काला नमक डालकर अच्छी तरह मिला दें और बाद में इस पूरे मिश्रण को रेफ्रिजरेट कर दें। आधा चम्मच चटनी को रोज भोजन के साथ लें, आपके नियमित भोजन के स्वाद को बेहतर करने के अलावा ये चटनी आपकी सेहत का भी भरपूर खयाल रखेगी।

क्या कहते हैं हर्बल आचार्य

नियमित भोजन के साथ चटनी ना हो तो मुझे भोजन अधूरा सा लगता है। यदि चटनियों की तैयारी सटीक तरीके से की गयी हो तो निश्चित ही ये भोजन के स्वाद को बेहतर तो करती ही हैं, साथ ही आपके तन्दुरुस्ती के लिए भी ये जोरदार होती हैं। भैरव ने जिन दो चटनियों की जानकारी हमारे पाठकों को दी हैं, वे सेहत के मायने से खास हैं।

कच्चा पपीता विटामिन बी का खजाना होता है, जिन्हें पेट के विकार खासकर अक्सर दस्त लगने की शिकायत रहती है उनके लिए कच्चा पपीता का सेवन हितकर होता है। आंखों की रौशनी बेहतर करने के लिए भी कच्चे पपीते का सेवन करने की सलाह परंपरागत जानकार लोग समय समय पर देते रहते हैं। दूसरी चटनी की रेसिपी में लहसुन और प्याज की हरी पत्तियों को सम्मिलित किया गया है जो हमारे शरीर के भीतर पनप रहे सूक्ष्मजीवी संक्रमण से लड़ने के लिए खास होते है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top